समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि आगामी आम चुनाव के प्रचार के दौरान उत्तर प्रदेश में उनकी पार्टी बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के साथ संयुक्त रैलियां करेगी. सपा अध्यक्ष ने यह बात पत्रकारों से बातचीत करते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने यह जानकारी भी दी, ‘आगामी आम चुनाव की रणनीति तय करने के लिए इसी बुधवार को सपा-बसपा के बीच एक बैठक हुई थी. उसी बैठक के दौरान यह फैसला किया गया.’

अखिलेश यादव ने आगे कहा, ‘चुनाव आयोग ने तारीखों का ऐलान कर दिया है. इसके बाद विभिन्न पार्टियों ने अपने उम्मीदवारों के नामों की घोषणा भी शुरू कर दी है. ऐसे में अब राज्य की जनता के पास जाने का वक्त आ गया है.’ इस मौके पर सपा अध्यक्ष ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली केंद्र और उत्तर प्रदेश सरकार पर निशाना भी साधा. रोजगार, खेती-किसानी के मोर्चों पर उन्होंने दोनों सरकारों को पूरी तरह विफल बताया. उन्होंने यह भी कहा, ‘चुनाव के दौरान भाजपा ने जो वादे किए थे उनमें से उसने एक भी पूरा नहीं किया है.’

बीते दिनों सपा-बसपा ने उत्तर प्रदेश के अलावा मध्य प्रदेश और उत्तराखंड में भी एक साथ मिलकर आगामी चुनाव लड़ने का फैसला किया है. उत्तर प्रदेश में सपा 37 जबकि बसपा 38 संसदीय सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेगी. वहीं इस गठबंधन में शामिल राष्ट्रीय लोकदल (आरएलडी) राज्य की तीन सीटों पर चुनाव लड़ेगी. साल 2014 के आम चुनाव के दौरान उत्तर प्रदेश में राष्ट्रीय जनतांतिक गठबंधन (एनडीए) को राज्य की 80 संसदीय सीटों में 73 पर जीत मिली थी. सपा के खाते में पांच सीटें आई थीं. लेकिन बसपा का खाता भी नहीं खुल सका था.