महाराष्ट्र में मुंबई के छत्रपति शिवाजी टर्मिनस (सीएसटी) के पास एक फुटओवर ब्रिज का एक बड़ा हिस्सा गिर जाने से पांच लोगों की मौत हो गई है. इस दर्दनाक हादसे में 30 लोग घायल भी हुए हैं. मुंबई पुलिस के प्रवक्ता के मुताबिक यह हादसा आज शाम करीब साढ़े सात बजे हुआ. दफ्तरों की छुट्टी का समय होने की वजह से उस वक्त इस पु​ल पर लोगों की आवाजाही काफी अधिक संख्या में थी.

पुलिस प्रवक्ता का यह भी कहना है कि मौके पर राहत और बचाव का काम जारी है. साथ ही घायलों को नजदीक के सेंट जॉर्ज और जीटी अस्पताल में दाखिल कराया गया है. इस बीच इस क्षेत्र से गुजरने वाले यात्रियों से पुलिस ने वैकल्पिक मार्गों का चयन करने की अपील भी की है.

इस बीच महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने एक ट्वीट करके इस दुर्घटना पर शोक जताया है. इस ट्वीट में उन्होंने यह भी लिखा है कि इस हादसे को लेकर उन्होंने मुंबई पुलिस और बृह्नमुंबई म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन (बीएमसी) के अधिकारियों से बातचीत की है. साथ ही पीड़ितों को हर जरूरी राहत पहुंचाने के निर्देश भी दिए हैं. इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपये का मुआवजा और घायलों को 50 हजार रुपये की राहत राशि देने की घोषणा की है.

उधर, दुर्घटनास्थल पर पहुंचे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के स्थानीय विधायक ने इस हादसे के लिए बीएमसी को जिम्मेदार ठहराया है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि मुंबई के सभी ओवरब्रिजों के निरीक्षण और सर्वे के लिए कल एक आदेश जारी कराया जाएगा. उनका यह भी कहना है कि इस दुर्घटना के कारणों की जांच कराई जाएगी साथ ही दोषी ​इंजीनियरों को किसी हाल में बख्शा नहीं जाएगा.

बीते एक साल के दौरान यह दूसरा मौका है जब मुंबई में दोबारा ऐसा हादसा देखने को मिला है. बीते साल जुलाई में भारी बारिश के चलते अंधेरी रेलवे स्टेशन के पास गोखले पुल का एक हिस्सा गिर गया था. उस दुर्घटना की सुखद बात यह थी कि उसमें किसी के हताहत होने की खबर नहीं आई थी. हालांकि उससे पहले सितंबर 2017 में ऐसी ही एक अन्य दुर्घटना एल्फिंस्टन रोड और परेल उपनगरीय रेलवे स्टेशन को जोड़ने वाले फुटओवर ब्रिज पर हुई थी. तब उस पुल पर भगदड़ मच जाने से 22 लोग मारे गए थे.