दलित नेता और भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद उर्फ ‘रावण’ ने वाराणसी संसदीय सीट से अगला आम चुनाव लड़ने की घोषणा की है. चंद्रशेखर आजाद ने यह घोषणा आज नई दिल्ली में जंतर मतंर पर आयोजित ‘हुंकार रैली’ में की है. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘जिन लोगों को बहुजन समाज की फिक्र है वे लोग आज इस रैली में शामिल हुए हैं.’ चंद्रशेखर आजाद ने आगे कहा, ‘अगले आम चुनाव में मैं किसी हाल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को केंद्र की सत्ता तक पहुंचने नहीं दूंगा. मुझे पूरा विश्वास है कि मैं यह काम करके दिखाऊंगा.’

इससे पहले साल 2014 में हुए पिछले आम चुनाव के दौरान नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश की वाराणसी सीट से चुनाव लड़ा था और भारी मतों से जीते थे. माना जाता है कि नरेंद्र मोदी इस चुनाव में भी इसी सीट से अपना नामांकन दाखिल करेंगे. हालांकि इस बारे में उनकी और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की तरफ से​ फिलहाल कोई औपचारिक घोषणा नहीं हुई है.

इधर, आज की रैली से पहले चंद्रशेखर आजाद ने बीते रविवार को उत्तर प्रदेश के ही मेरठ में एक रैली की थी. इसके बाद सड़क मार्ग के जरिये उन्होंने मुजफ्फरनगर से होते हुए गाजियाबाद पहुंचने का फैसला किया था. लेकिन उस दौरान तय संख्या से कहीं अधिक मोटरसाइकिलों के उनके साथ होने की वजह से उन पर चुनाव संहिता के उल्लंघन के आरोप लगे थे. उसके मद्देनजर प्रदेश पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया था.

इसी बीच आजाद के बीमार पड़ जाने की वजह से उन्हें मुजफ्फरनगर के एक अस्पताल में दाखिल कराया गया था. फिर इसी बुधवार को कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने अस्पताल जाकर उनके साथ मुलाकात की थी. उस वक्त प्रियंका गांधी ने यह भी कहा था कि वे आजाद को पहले से जानती हैं और उन्हें उनका ‘जोश’ पसंद है. इसके साथ ही कांग्रेस महासचिव ने उस मुलाकात को राजनीति जोड़कर नहीं देखे जाने की अपील भी की थी.