आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने कहा है कि वाईएसआर कांग्रेस के दिग्गज नेता वाईएस विवेकानंद रेड्डी (68) की मौत की वजहों की छानबीन विशेष जांच दल से कराई जाएगी. इस संबंध में उनकी तरफ से आदेश भी जारी कर दिए हैं. स्क्रोल.इन के मुताबिक वाईएस विवेकानंद रेड्डी आज सुबह पुलिवेंदुला स्थित अपने आवास पर मृत पाए गए थे. ऐसा माना गया था कि उनकी मौत हार्ट अटैक की वजह से हुई है.

हालांकि उसी दौरान रेड्डी के निजी सचिव एमवी कृष्णा रेड्डी ने उनके बाथरूम में खून के कुछ धब्बे देखे थे. इसके मद्देनजर उन्होंने विवेकानंद रेड्डी की मौत अप्राकृतिक कारणों की वजह से होने का अंदेशा जताया था. प्रदेश पुलिस के एक अधिकारी के मुताबिक एमवी कृष्णा रेड्डी की शिकायत पर विवेकानंद रेड्डी की अप्राकृतिक मौत का मामला दर्ज किया गया है. साथ ही इसकी जांच भी शुरू कर दी गई है. इसी अधिकारी आगे कहा कि मृतक नेता के शव को पोस्टमार्टम के लिए पुलिवेंदुला के ही एक सरकारी अस्पताल में भेजा गया है.

वाईएस विवेकानंद रेड्डी आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वाईएस राजशेखर रेड्डी के छोटे भाई और वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष जगन मोहन रेड्डी के चाचा थे. वे राज्य की कडप्पा संसदीय सीट से 1999 और 2004 में सांसद चुने गए थे. इससे पहले वे 1989 और 1994 में पुलिवेंदुला सीट से विधायक रहे थे.