चीन में 60 साल से अधिक आयु के लोगों की संख्या 42 करोड़ पहुंच चुकी है. चीनी प्रधानमंत्री ली क्विंग ने शुक्रवार को मीडिया को इसकी जानकारी दी. उन्होंने कहा कि बीते सालों में जनसंख्या में बड़ा बदलाव हुआ है जिसके चलते सरकार पर स्वास्थ्य सेवाओं का भारी बोझ पड़ रहा है.

पीटीआई के मुताबिक ली क्विंग ने बताया कि चीन में फिलहाल 60 साल से अधिक उम्र के लोगों की संख्या 25 करोड़ तथा 65 साल से ज्यादा आयु के लोगों की तादाद 17 करोड़ है. इसी प्रकार छह वर्ष से कम आयु के 10 करोड़ बच्चे हैं, जिन्हें डे केयर सेंटरों की आवश्यकता है.

चीनी प्रधानमंत्री ने आगे कहा, ‘देश में बुजुर्गों तथा शिशुओं के लिए नर्सिंग सेवाओं की आपूर्ति अपर्याप्त है और मांग को पूरा नहीं किया जा सकता, नर्सिंग होम में प्रति सौ नागरिकों पर औसतन तीन बेड हैं. हालांकि, इस पर सबसे अधिक ध्यान दिया जा रहा है.’

दुनिया की सबसे अधिक आबादी वाले देश चीन में ‘वन-चाइल्ड पॉलिसी’ लागू होने के बाद उसकी जनसंख्या में बूढ़े लोगों की संख्या तेजी से बढ़ी है जिसके चलते उसे जनसांख्यिकीय संकट का सामान करना पड़ रहा है. हालांकि, इसे रोकने के लिये उसने 2016 में दो बच्चे पैदा करने की अनुमति दे दी थी.