न्यूजीलैंड में दो मस्जिदों पर हुए हमलों में से एक के पीछे जिम्मेदार आतंकवादी ने सोशल मीडिया पर अपने बारे में काफी कुछ स्पष्ट किया है. उसने लिखा है कि वह 28 वर्षीय आस्ट्रेलियाई श्वेत राष्ट्रवादी है, जो आव्रजकों और मुसलमानों से नफ़रत करता है.

पीटीआई के मुताबिक आतंकी ने ब्रेंटन टारेंट के नाम से सोशल मीडिया पर 74 पन्नों का एक दस्तावेज पोस्ट किया है जिससे ये बातें सामने आयी हैं. हमलावर ने लिखा है कि वह यूरोप में मुस्लिमों द्वारा किए गए हमलों से गुस्से में था. वह बदला लेना चाहता था और भय पैदा करना चाहता था. साथ ही उसने स्पष्ट तौर पर कहा है कि वह लोगों का ध्यान भी अपनी ओर खींचना चाहता था.

उसने आगे ये भी कहा है कि वह हमले में अपने बचने की उम्मीद कर रहा है ताकि इसके बाद मीडिया में अपने विचारों को बेहतर तरीके से प्रसारित कर सके.

शुक्रवार सुबह मध्य क्राइस्टचर्च स्थित मस्जिद अल नूर और शहर के उपनगर लिनवुड स्थित एक अन्य मस्जिद में हुये हमलों में कम से कम 49 लोग मारे गए और 20 अन्य घायल हुये. पुलिस के मुताबिक एक मस्जिद में गोलीबारी करने वाला व्यक्ति ऑस्ट्रेलिया में जन्मा नागरिक है.