‘मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित कराने के प्रयासों में भारत अब अकेला नहीं है.’  

— सुषमा स्वराज, विदेश मंत्री

सुषमा स्वराज का बयान जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के सरगना मसूद अजहर को लेकर दिए गए विपक्षी दलों के बयानों पर पलटवार करते हुए आया है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘भारत ने 2009 में पहली बार उसे वैश्विक आतंकी घोषित करने की मांग की थी. तब उस मुद्दे पर भारत अकेला था पर अब ऐसा नहीं है.’ उन्होंने आगे कहा, ‘मसूद अजहर के लिए इस बार यह मांग अमेरिका, फ्रांस और बिटेन ने की थी. चीन को छोड़कर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् (यूएनएससी) के 15 में से 14 देशों ने इस पर भारत का समर्थन किया है.’ सुषमा स्वराज का यह भी कहना था कि इस सबके मद्देनजर इसे भारत की ‘कूटनीतिक विफलता’ नहीं ठहराया जा सकता.

‘नरेंद्र मोदी सरकार ने किसानों से किए वादों को पूरा न करके उन्हें धोखा दिया है.’  

— राहुल गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष

राहुल गांधी ने यह बात ओडिशा के बारगढ़ में एक रैली को संबोधित करते हुए कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘कांग्रेस ने किसानों से किए वादों को हमेशा पूरा किया है.’ उनके मुताबिक, ‘बीते साल मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बनते ही सबसे पहले किसानों के कर्ज माफ किए गए. साथ ही छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य ढाई हजार रुपये प्रति क्विंटल किया. इसके जरिये हमने उन्हें संदेश दिया कि वह अकेले नहीं हैं, कांग्रेस उनके साथ है.’ राहुल गांधी का यह भी कहना था, ‘वही संदेश हम ओडिशा के किसानों को भी दे रहे हैं.’


‘गठबंधन में सहयोगियों को साधने करने का तरीका भाजपा से सीखना चाहिए.’  

— अखिलेश यादव, समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष

अखिलेश यादव ने यह बात एक इंटरव्यू के दौरान कांग्रेस को ‘नसीहत’ देते हुए कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘तमाम उतार-चढ़ावों के बावजूद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अपने सहयोगी दलों के साथ जुड़ी हुई है. उसे पता है कि सत्ता में रहने के लिए दूसरे दलों का सम्मान करना जरूरी है. इसीलिए वह चंद सीटों के साथ भी दूसरे दलों के साथ गठबंधन स्वीकार कर रही है.’ अखिलेश यादव ने आगे कहा, ‘कांग्रेस भी एक बड़ी पार्टी है. उसे छोटे दलों की मदद करनी चाहिए. इसके लिए उसके पास पश्चिम बंगाल और दिल्ली सहित कई अन्य राज्यों में तमाम विकल्प हैं.’


‘कांग्रेस के एक नेता विफल हो चुके हैं, दूसरे का उड़ान भर पाना भी कठिन है.’  

— अरुण जेटली, भारतीय जनता पार्टी के नेता

अरुण जेटली ने यह बात फेसबुक पर एक पोस्ट के जरिये कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी के सक्रिय राजनीति में प्रवेश पर निशाना साधते हुए कही है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘कांग्रेस में वंशवाद हावी है. पूर्व प्रधानमत्री राजीव गांधी की हत्या के बाद कुछ समय कांग्रेस ने एक परिवार विशेष से दूरी बनाई थी. लेकिन ज्यादा समय तक वैसा नहीं हो सका. सोनिया गांधी के बाद पार्टी की कमान राहुल गांधी को सौंपी गई.’ अरुण जेटली ने आगे कहा कि वंशवाद में यकीन रखने वाल दलों को बीते आम चुनाव से सीख लेनी चाहिए थी. क्योंकि भारत में राजशाही नहीं बल्कि लोकतंत्र है. जहां किसी व्यक्ति के गुणों और प्रतिभा के आधार पर सत्ता की बागडोर सौंपी जाती है.


‘क्रिकेट विश्वकप में विराट कोहली को महेंद्र सिंह धोनी के मार्गदर्शन की जरूरत है.’  

— शेन वॉन, पूर्व क्रिकेटर

शेन वॉर्न का यह बयान क्रिकेट के मैदान पर महेंद्र सिंह धोनी की तरफ से निभाई जाने वाली विभिन्न भूमिकाओं को लेकर आया है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि विकेट के पीछे कमाल दिखाने वाले महेंद्र सिंह धोनी एक बेहतरीन ‘फिनिशर’ भी हैं. उन्होंने लंबे समय तक भारत के लिए कप्तानी की है. वर्ल्ड कप के दौरान विपरीत परिस्थितियों में उनका वह अनुभव विराट कोहली के काफी आम आएगा. इसके साथ ही शेन वॉर्न ने विराट कोहली को मौजूदा समय का सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज भी बताया है.