वित्त मंत्री अरुण जेटली को वस्तु व सेवा कर (जीएसटी) को सफलतापूर्वक लागू करने के लिए ‘बिजनेसलाइन चेंजमेकर ऑफ द इयर’ पुरस्कार दिया गया है. उन्होंने जीएसटी परिषद की तरफ से यह पुरस्कार स्वीकार किया है. शुक्रवार को पूर्व प्रधानमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनमोहन सिंह ने वित्त मंत्री को यह पुरस्कार दिया. इससे भाजपा को सोशल मीडिया पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर हमला करने का मौका मिल गया है.

मनमोहन सिंह द्वारा अरुण जेटली को पुरस्कृत किए जाने के बाद पार्टी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर तंज कसते हुए लिखा, ‘आज जीएसटी परिषद को साल का बिजनेसलाइन चेंजमेकर पुरस्कार मिला है. डॉ मनमोहन सिंह ने वित्त मंत्री अरुण जेटली को यह पुरस्कार दिया. गब्बर सिंह टैक्स, राहुल गांधी?’

दरअसल, कांग्रेस पार्टी अक्सर जीएसटी को ‘गब्बर सिंह टैक्स’ कह कर भाजपा पर निशाना साधती रही है. उसका आरोप है कि मोदी सरकार ने बहुत जल्दबाजी में इस टैक्स व्यवस्था को लागू किया जिससे आम लोगों सहित छोटे व्यापारियों को काफी मुश्किल का सामना करना पड़ा है. राहुल गांधी के अलावा खुद मनमोहन सिंह सरकार के जीएसटी को लागू करने के तरीके की आलोचना कर चुके हैं. 2017 में एक रैली में पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा था, ‘नोटबंदी और जल्दबाजी में लागू किए गए जीएसटी का क्या प्रभाव रहा? इसने देश के आर्थिक विकास को धीमा कर दिया.’