भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने पश्चिम बंगाल की 42 में से कम से कम 23 लोक सभा सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है. पार्टी कई बार यह दावा भी कर चुकी है कि इस बार वह राज्य की सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) को सबसे तगड़ी चुनौती देगी. लेकिन इसके उलट पार्टी की राज्य इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष का कहना है, ‘हमारे पास राज्य में चुनाव जीतने वाले उम्मीदवार ही नहीं हैं.’

दिलीप घोष के मुताबिक, ‘हमारे पास नेता और कार्यकर्ता हैं. वे बहुत मेहनत भी कर रहे हैं. हमने उनमें से कई लोगों को पंचायत और विधानसभा के चुनाव में टिकट भी दिया. लेकिन जहां तक लोक सभा चुनाव की बात है तो उसके लिए हमारे पास पर्याप्त उम्मीदवार नहीं हैं. ख़ास तौर पर ऐसे उम्मीदवार जो मुकाबला कर सकें, जीत सकें.’

दिलीप घोष ने इस ख़बरों से इंकार किया कि दूसरी पार्टियाें से नेताओं को लाने की कोशिशों के ख़िलाफ़ प्रदेश भाजपा में असंतोष बढ़ रहा है. उन्होंने कहा, ‘हमारी पार्टी में असंतोष जैसी कोई बात नहीं है. अगर कोई हमारे पास आना चाहता है. हमारी विकासोन्मुख प्रक्रिया में शामिल होना चाहता है तो हम उसे कैसे रोक सकते हैं.’ ग़ौरतलब है कि अभी इसी गुरुवार को टीएमसी के असरदार विधायक और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के नज़दीकियों में शुमार रहे अर्जुन सिंह भाजपा में शामिल हुए हैं.