कांग्रेस ने शनिवार को गोवा में सरकार बनाने का दावा पेश किया है. कांग्रेस का कहना है कि भाजपा विधायक फ्रांसिस डिसूजा के निधन के चलते मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के नेतृत्व वाली सरकार अल्पमत में आ चुकी है.

नेता प्रतिपक्ष चंद्रकांत कावलेकर ने गोवा की राज्यपाल मृदुला सिन्हा को लिखे एक पत्र में यह दलील दी है. इसी पत्र के जरिए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कावलेकर ने सरकार बनाने का दावा पेश करते हुए भाजपा की अगुवाई वाली सरकार को बर्खास्त करने की मांग भी की है. इस पत्र में आगे यह भी लिखा गया है, ‘संविधान के अनुरूप अगर सबसे बड़ी पार्टी को सरकार बनाने का न्यौता नहीं दिया गया और राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की कोशिश की गई तो यह अलोकतांत्रिक और गैरकानूनी कदम होगा. इस फैसले को चुनौती दी जाएगी.’

गोवा विधानसभा के कुल सदस्यों की संख्या 40 है. गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के विधायक फ्रांसिस डिसूजा का बीते महीने में निधन हो जाने और कांग्रेस के दो विधायकों के इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल होने के बाद सदन में विधायकों की संख्या 37 रह गई है. फिलहाल यहां कांग्रेस 14 विधायकों के साथ सबसे बड़ी पार्टी है. वहीं भाजपा के 13 विधायक हैं. पार्टी यहां अन्य दलों के तीन विधायकों के समर्थन से सरकार चला रही है.