खुदरा व्यापारियों के संगठन कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने चीन से आयात किये जाने वाले सामान पर 300 से 500 प्रतिशत शुल्क लगाने की मांग की है. इसके अलावा कैट ने 19 मार्च को देशभर में चीन के सामानों की होली जलाने की घोषणा की है. पीटीआई के मुताबिक कैट ने चीनी सामानों की गुणवत्ता की जांच की मांग भी की है और कहा है, ‘चीन से आने वाले सामान आम उपयोग के हैं और इनकी गुणवत्ता जांचने की कोई व्यवस्था नहीं है. यदि इनकी गुणवत्ता को परखा जाए तो हमारे स्वदेशी उत्पाद इनसे कहीं बेहतर साबित होंगे.’

कैट की तरफ से जारी एक बयान में चीन की आलोचना करते हुए कहा गया है कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने के प्रस्ताव पर भारत के इस पड़ोसी देश ने एक बार फिर से वीटो का इस्तेमाल किया है. इस तरह वह लगातार पाकिस्तान का साथ देता रहा है. कैट के मुताबिक इन्हीं कारणों से उसने 19 मार्च को चीनी सामान की होली जलाने का आह्वान किया है. दिल्ली में यह कार्यक्रम चीनी वस्तुओं के केंद्र सदर बाजार में होगा और देश में लगभग 1500 जगहों पर चीन के सामानों की होली जलाई जाएगी.