भाजपा के नेताओं ने अपने-अपने ट्विटर अकाउंट में अपने नाम के आगे चौकीदार जोड़ने का अभियान शुरू कर दिया है. रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह काम किया. इसके बाद पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और केंद्रीय मंत्रियों ने भी ट्विटर पर अपने-अपने नाम के आगे चौकीदार जोड़ दिया. इनमें पीयूष गोयल और जेपी नड्डा भी शामिल हैं.

रविवार को जब प्रधानमंत्री ने ट्विटर पर अपने नाम के आगे चौकीदार जोड़ा तो माना गया कि यह ट्रेंड उन्होंने चलाया है. लेकिन, ऐसा नहीं है. दरअसल, शनिवार सुबह जब नरेंद्र मोदी के ट्विटर अकाउंट से #MainBhiChowkidar का ट्रेंड शुरू हुआ तो दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता तेजिंदर बग्गा ने एक ट्वीट किया. इसमें उन्होंने लिखा, ‘मैं अपना ट्विटर नाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और #MainBhiChowkidar अभियान के समर्थन में बदल रहा हूं. क्या आप भी बदलेंगे?’ इस ट्वीट में उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को टैग भी किया था.

इससे माना जा सकता है कि खुद के नाम के आगे चौकीदार जोड़ने का ट्रेंड सबसे पहले तेजिंदर बग्गा ने शुरू किया था. इसके बाद प्रधानमंत्री ने उन्हें फॉलो किया. इसके बाद रविवार को अन्य नेताओं ने भी प्रधानमंत्री को टैग करके खुद को चौकीदार बताना शुरू कर दिया.

तेजिंदर बग्गा का नाम साल 2013 में उस वक्त सुर्खियों में आया था जब उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के वकील प्रशांत भूषण पर हमला किया था. इससे पहले उन्होंने भगत सिंह क्रांति सेना का गठन किया था. इस संगठन में उनके साथ इंदर वर्मा भी थे जिनका संबंध उग्र हिंदूवादी संगठन श्रीराम सेना बताया जाता है.

#MainBhiChowkidar ट्रेंड सोशल मीडिया पर आलोचनाओं से अछूता नहीं है. शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) धोखाधड़ी मामले में आरोपित नीरव मोदी के एक फर्जी अकाउंट को टैग करते हुए #MainBhiChowkidar से जुड़ा एक ट्वीट किया था. इसे लेकर वे कई लोगों के निशाने पर आ गए. हालांकि, थोड़ी देर बाद ही उन्होंने इस ट्वीट को हटा दिया.

माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा सोशल मीडिया पर शुरू किया गया यह ट्रेंड कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के ‘चौकीदार चोर है’ के नारे के जवाब में शुरू किया है. कांग्रेस ने इस नारे की शुरुआत रफाल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर कथित घोटाले में प्रधानमंत्री की भूमिका पर की थी. इसके जवाब में भाजपा चौकीदार को ईमानदार बताने की कवायद में जुट गई है.