रिलायंस कम्यूनिकेशंस के मुखिया अनिल अंबानी ने जेल जाने से बचने के लिए स्वीडन की टेलीकॉम कंपनी एरिक्सन की बकाया रकम चुका दी है. एनडीटीवी के मुताबिक सोमवार को अनिल अंबानी ने स्वीडिश कंपनी को 4.62 अरब रुपये यानी (462 करोड़) का भुगतान किया. एरिक्सन के प्रवक्ता ने भी इसकी पुष्टि की है.

इससे पहले बीते महीने सुप्रीम कोर्ट ने अनिल अंबानी और रिलायंस के दो डायरेक्टरों सतीश सेठ और छाया विरानी को एरिक्सन के 453 करोड़ रुपये की बकाया रकम चुकाने के आदेश दिए थे. तब सुप्रीम कोर्ट ने रिलायंस को चार हफ्ते का वक्त देते हुए 19 मार्च तक बकाया रकम चुकाने के लिए कहा था. इसके साथ ही शीर्ष अदालत का यह भी कहना था कि अगर उसके आदेश का पालन नहीं होगा तो अनिल अंबानी और उनकी कंपनी के दो डायरेक्टरों को तीन-तीन महीने की जेल होगी.

उसी दौरान शीर्ष अदालत ने उन तीनों को अपने एक आदेश की अवहेलना का दोषी भी करार ​दिया था जिसके लिए उन पर एक-एक करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया था. साथ ही अदालत ने यह भी कहा था कि अगर जुर्माने की वह रकम नहीं चुकाई जाती तो उन्हें एक-एक महीना जेल में गुजारना होगा.