‘चौकीदार गरीब नहीं बल्कि अमीर लोग रखते हैं.’  

— प्रियंका गांधी, कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव

प्रियंका गांधी ने यह बात उत्तर प्रदेश के प्रयाग राज में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘मैं भी चौकीदार’ अभियान पर तंज कसते हुए कही. इसके साथ ही स्थानीय लोगों से बातचीत करते हुए उन्होंने यह भी कहा, ‘आज देश का संविधान खतरे में है. लोगों की आवाज दबाई जा रही है. इसीलिए मैं घर से बाहर निकलकर आप लोगों के बीच आई हूं.’ इस मौके पर प्रियंका गांधी ने सरकार पर गिने-चुने लोगों के लिए काम करने का आरोप भी लगाया. साथ ही आगामी चुनाव में उनसे कांग्रेस का समर्थन करने की अपील भी की.

‘प्रयाग राज की जनता अच्छी तरह जानती है कि आज संविधान खतरे में है या फिर कांग्रेस.’  

— सुधांशु त्रिवेदी, भारतीय जनता पार्टी के नेता

सुधांशु त्रिवेदी का यह बयान कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के एक बयान पर निशाना साधते हुए आया है. उनके मुताबिक, ‘दूसरों पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाने से पहले कांग्रेस को खुद अपने गिरेबान में झांककर देखना चाहिए.’ उनके मुताबिक, ‘कांग्रेस का नेतृत्व करने वाले गांधी परिवार के हर सदस्य पर आज भ्रष्टाचार के आरोप लगे हुए हैं.’ इसके साथ ही सुधांशु त्रिवेदी का यह भी कहना था कि प्रियंका गांधी उस नाव को खे रही हैं जो ‘दिशाहीन’ है और जिसका कोई ‘भविष्य’ नहीं है.


‘उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन को लेकर कांग्रेस भ्रम न फैलाए.’  

— मायावती, बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो

मायावती का यह बयान कांग्रेस के उस बयान पर पलटवार करते हुए आया जिसमें उसने उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन और अपना दल के लिए सात सीटें छोड़ने का ऐलान किया था. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘हमारे समर्थकों को भी जान लेना चाहिए कि हमने कांग्रेस के साथ कोई समझौता नहीं किया है. हमारा गठबंधन आगामी आम चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को शिकस्त देने में सक्षम है.’ मायावती का यह भी कहना था कि कांग्रेस उत्तर प्रदेश की सभी 80 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारने के लिए स्वतंत्र है.


‘अगर इस बार विपक्ष से कोई चूक हुई तो देश में आगे चुनाव होंगे या नहीं, यह कोई नहीं जानता.’  

— तेजस्वी यादव, राष्ट्रीय जनता दल के नेता

तेजस्वी यादव ने यह बात एक ट्वीट के जरिये कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कही. इसी ट्वीट में उन्होंने यह भी कहा, ‘अगर अपनी चंद सीटें बढ़ाने और सहयोगियों की घटाने के लिए अहंकार नहीं छोड़ा गया तो संविधान में आस्था रखने वाले न्यायप्रिय देशवासी राजनीतिक दलों को माफ नहीं करेंगे.’


‘सक्रिय राजनीति में प्रियंका गांधी क्या कुछ नया लेकर आई हैं?’  

— महेश शर्मा, भारतीय जनता पार्टी के सांसद

महेश शर्मा ने यह बात उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में एक सभा को संबोधित करते हुए कही. इस मौके पर उन्होंने कांग्रेस में ‘वंशवाद’ का आरोप लगाया. साथ ही सवालिया लहजे में कहा, ‘क्या सक्रिय राजनीति में आने से पहले प्रियंका गांधी कांग्रेस की बेटी नहीं थीं. क्या भविष्य में वह सोनिया गांधी की बेटी नहीं रहेंगी.’ महेश शर्मा ने आगे कहा, ‘पंडित नेहरू से होते हुए कांग्रेस की विरासत राहुल गांधी तक पहुंची है. भविष्य में भी इस पार्टी के अध्यक्ष का पद गांधी परिवार का ही कोई व्यक्ति संभालेगा. लेकिन इनसे टक्कर लेने के लिए भाजपा का शेर नरेंद्र मोदी सामने खड़ा है.’