आज के दौर में लोगों की जिंदगी मोबाइल, गाड़ी या या घर में रखे इनवर्टर जैसी चीजों के बिना नहीं चल सकती. और ये चीजें बैटरी के बिना नहीं चल सकतीं. इसलिए इतिहास में 20 मार्च का दिन इंसानी जिंदगी के लिए बेहद जरूरी बन चुकी इस चीज से जुड़ी जरूरी खोज की वजह से महत्वपूर्ण है.

आधुनिक जीवन की कल्पना बैटरी के बिना करना संभव नहीं है. सन 1800 में इटली के महान वैज्ञानिक अलेसांद्रो वोल्टा ने 20 मार्च के दिन ही विश्व समुदाय को बैटरी के विकास से जुड़ी इस खोज के बारे में पहली बार बताया था. वोल्टा ने तांबे और जिंक की छड़ों को कांच के दो बर्तनों में रख कर उन्हें नमक के पानी से भीगे एक तार से जोड़ कर साबित किया कि इस भौतिक तरीके से बिजली बन सकती है.

देश-दुनिया के इतिहास में 20 मार्च को दर्ज अन्य प्रमुख घटनाओं का सिलसिलेवार ब्यौरा इस प्रकार है:

1602 : यूनाइटेड डच ईस्ट इंडिया कंपनी की स्थापना.

1916 : अल्बर्ट आइंसटीन के सापेक्षता के सिद्धांत का प्रकाशन हुआ.

1952 : टेनिस खिलाड़ी आनंद अमृतराज का जन्म.

1956 : ट्यूनीशिया को फ्रांस से स्वतंत्रता मिली.

1970 : संविधान सभा के सदस्य और प्रसिद्ध हॉकी खिलाड़ी जयपाल सिंह मुंडा का निधन.

2014 : लेखक पत्रकार खुशवंत सिंह का निधन.

2016 : अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा क्यूबा पहुंचे.