पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाले के मुख्य आरोपित नीरव मोदी को ब्रिटेन के लंदन में गिरफ्तार कर लिया गया है. खबरों के मुताबिक उसे जल्दी ही वहां की एक अदालत के सामने पेश किया जाएगा. नीरव मोदी को बीते दिनों लंदन में देखा गया था जिसके बाद प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने एक बार फिर ब्रिटेन से उसके प्रत्यर्पण की अपील की थी. इसके बाद बीते सोमवार को ही वहां की एक स्थानीय अदालत ने उसकी गिरफ्तारी के वारंट जारी किए थे.

नीरव मोदी और उसके मामा मेहुल चौकसी पर पीएनबी से 13 हजार करोड़ रुपये से भी ज्यादा का कर्ज लेकर उसे न चुकाने के आरोप हैं. कर्ज की रकम चुकाने से बचने के लिए यह दोनों बीते साल देश छोड़कर फरार हो गए थे. बताया जाता है कि मेहुल चौकसी इन दिनों एंटीगुआ में रह रहा है. उसने वहां की नागरिकता भी ले रखी है. इसके अलावा बीते काफी समय से लंदन में रह रहे नीरव मोदी ने वहीं से दोबारा हीरों का कारोबार भी शुरू कर दिया था.

इधर, नीरव मोदी की गिरफ्तारी में ईडी के साथ ही केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने भी अहम भूमिका निभाई है. सीबीआई के प्रयासों से ही जून 2018 में उसके खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी हुआ था.