‘नरेंद्र मोदी ने पीएमओ को पब्लिसिटी मिनिस्टर्स ऑफिस में तब्दील कर दिया है.’  

— राहुल गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष

राहुल गांधी ने यह बात मणिपुर में छात्रों को संबोधित करने के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रचार के तौर-तरीकों को लेकर उन पर तंज कसते हुए कही. यहां इसका एक उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की असहमति के बावजूद प्रधानमंत्री ने नोटबंदी लागू करने का फैसला किया था. फिर इस फैसले को उन्होंने काला धन बाहर निकलवाने के लिए अपनाए गए उपाय के रूप में पेश किया. इसके साथ ही राहुल गांधी का यह भी कहना था, ‘नरेंद्र मोदी खुद भी चाहते हैं कि प्राइम मिनिस्टर्स ऑफिस (पीएमओ) को पब्लिसिटी मिनिस्टर्स ऑफिस कहा जाए.’

‘राहुल गांधी ने चौकीदार चोर है बोलकर चौकीदारों का अपमान किया है.’  

— नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

नरेंद्र मोदी ने यह बात देशभर के चौकीदारों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये संवाद करते हुए कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘मेरे प्रतिद्वंद्वियों में मेरा नाम लेने और मुझ पर सीधा हमला बोलने का साहस नहीं है. इसलिए वे चौकीदारों को निशाना बना रहे हैं.’ मोदी का यह भी कहना था कि ‘चौकीदार’ शब्द आज भारत में ‘देशभक्ति और ईमानदारी’ का पर्याय बन गया है. इसके साथ ही राहुल गांधी का नाम लिए बगैर नरेंद्र मोदी ने आगे कहा, ‘जो लोग काम में विश्वास करते हैं उनके खिलाफ नफरत फैलाना नामदार (राहुल गांधी) की आदत है. चाहे ऐसा कोई व्यक्ति प्रधानमंत्री ही क्यों न बन जाए.’


‘अगले चुनाव में अगर भाजपा को 200 से कम सीटें मिलीं तो एनडीए के घटक दल बताएंगे कि प्रधानमंत्री की कुर्सी पर कौन बैठेगा.’  

— संजय राउत, शिवसेना के नेता

संजय राउत ने यह बात बीबीसी से बातचीत करते हुए कही. साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘साल 2014 में जो सरकार बनी थी वह भाजपा की सरकार थी. लेकिन 2019 में अगर सरकार बनी तो वह भाजपा की नहीं बल्कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) की सरकार होगी.’ इसके साथ ही संजय राउत का यह भी कहना था कि भारत में ‘राष्ट्रवाद’ की बयार बहने के बाद ‘महंगाई और बेरोजगारी’ जैसे मुद्दों की अहमियत कम हो गई है.


‘मैं लोकसभा का आगामी चुनाव नहीं लड़ूंगी.’  

— मायावती, बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष

मायावती ने यह बात लखनऊ में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘मुझे पूरा भरोसा है कि मेरी पार्टी इस फैसले को पूरी तरह स्वीकार करेगी. मेरी इच्छा होगी तो मैं बाद में चुनाव लड़ूंगी.’ मायावती का यह भी कहना था, ‘उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी (बसपा), समाजवादी पार्टी (सपा) और राष्ट्रीय लोक दल (आरएलडी) के साथ गठबंधन करके चुनाव लड़ रही है. हमारा गठबंधन राज्य में अच्छा काम कर रहा है. इसलिए मैंने इसके ज्यादा से ज्यादा उम्मीदवारों की जीत के लिए मेहनत करने का फैसला किया है.’


‘अगर आप भी अपने बच्चों को चौकीदार बनाना चाहते हैं तो नरेंद्र मोदी को वोट दें.’  

— अरविंद केजरीवाल, आम आदमी पार्टी के संयोजक

अरविंद केजरीवाल ने यह बात नरेंद्र मोदी के ‘मैं भी चौकीदार’ अभियान पर निशाना साधते हुए एक ट्वीट के जरिये कही. इसी ट्वीट से उन्होंने यह भी कहा, ‘मोदी जी आज पूरे देश को चौकीदार बनाना चाहते हैं.’ अरविंद केजरीवाल ने आगे कहा, ‘अगर आप अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा देकर डॉक्टर, इंजीनियर, वकील बनाना चाहते हैं तो पढ़े लिखे ईमानदार लोगों की पार्टी, आम आदमी पार्टी को वोट दें.’