जम्मू-कश्मीर में सीआरपीएफ के एक जवान ने कथित रूप से अपने ही तीन साथियों पर गोली चला दी जिससे उनकी मौत हो गई. घटना बुधवार की रात उधमपुर के बट्टल बलियान स्थित 187वें बटालियन शिविर में हुई. अधिकारियों ने जानकारी दी कि शिविर में कॉन्स्टेबल अजित कुमार की अपने साथियों के साथ बहस हो गई थी जिसके बाद उसने पीड़ित जवानों पर गोली चला दी. बाद में उसने खुद को भी गोली मार ली.

पीटीआई के मुताबिक घटना का पता चलने के बाद सीआरपीएफ और पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी तुरंत मौके पर पहुंचे. वहीं, अजित को एक सैन्य अस्पताल में ले जाया गया जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है. अधिकारियों ने बताया कि कुमार उत्तर प्रदेश के कानपुर का रहने वाला है. वहीं, मृतकों की पहचान राजस्थान के रहने वाले हेड कांस्टेबल पोकरमाल आर, दिल्ली के योगेंद्र शर्मा और हरियाणा के उमेद सिंह के रूप में हुई है. उन्होंने यह भी बताया कि जवानों के बीच किसी विवाद को लेकर ही गोली चलाई गई थी.

इससे पहले बीती सात जनवरी को भी ऐसा ही हादसा हुआ था. श्रीनगर स्थित पंथचौक कैंप में सीआरपीएफ के एक जवान ने अपने दो साथियों पर गोली चला दी थी. बाद में उसने खुद को भी गोली मार ली थी. एनडीटीवी के मुताबिक उस समय अधिकारियों ने बताया था कि जवान निजी कारणों से परेशान था. वहीं, सितंबर 2018 में बीएसएफ के गाजियाबाद (उत्तर प्रदेश) स्थित कैंप में एक जवान ने अपने एक साथी जवान को गोली मार दी थी. इन सभी हादसों में गोली चलाने वाले जवानों ने अपनी सर्विस राइफल का इस्तेमाल किया.