भारतीय जनता पार्टी ने इस बार के लोक सभा चुनाव के लिए लगभग 275 उम्मीदवारों के नाम तय कर लिए हैं. सूत्रों के हवाले से यह ख़बर आई है. इसमें यह भी बताया गया है कि पार्टी शायद इस बार बुज़ुर्ग नेताओं को चुनाव मैदान में नहीं उतारेगी.

ख़बर के मुताबिक पार्टी के मार्गदर्शक मंडल के सदस्य लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी सहित उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस कोश्यारी तथा बीसी खंडूरी, पूर्व लोक सभा उपाध्यक्ष करिया मुंडा, पूर्व केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्र चुनाव मैदान में शायद नहीं दिखेंगे. लोक सभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन और हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार को शायद टिकट न मिले.

सूत्र बताते हैं कि बुज़र्गों के बज़ाय पार्टी इस बार युवा चेहरों को मौका देने के पक्ष में है. बताया जाता है कि पार्टी नेतृत्व के रुख़ को देखते हुए कलराज मिश्र और करिया मुंडा जैसे कई नेताओं ने ख़ुद ही चुनाव न लड़ने का ऐलान कर दिया है. कहा तो यह भी जा रहा है कि पार्टी के इस निर्णय में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की भी सहमति है. मूल रूप से यह विचार आरएसएस का ही बताया जाता है कि 75 साल से अधिक उम्र के नेताओं को चुनावी राजनीति से दूर रखा जाना चाहिए.