दिल्ली के पूर्व पुलिस आयुक्त नीरज कुमार के ख़िलाफ़ प्राथमिकी दर्ज़ करने का आदेश जारी हुआ है. दिल्ली उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश राजेंद्र मेनन की अध्यक्षता वाली बेंच ने यह आदेश जारी किया है.

ख़बरों के मुताबिक नीरज कुमार के अलावा सीबीआई (केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो) के पूर्व निरीक्षक विनोद पांडे के ख़िलाफ़ भी इसी तरह प्राथमिकी दर्ज़ कर जांच शुरू करने का आदेश दिया गया है. दोनों पूर्व अफसरों पर एक व्यक्ति को प्रताड़ित करने और दस्तावेज़ से छेड़छाड़ करने का आरोप है. यह घटना उस वक़्त की है जब नीरज कुमार सीबीआई में संयुक्त निदेशक थे.

ख़बर की मानें तो जून-2006 में दिल्ली हाईकाेर्ट के तत्कालीन जस्टिस आरसी जैन ने भी नीरज कुमार और विनोद पांडे के ख़िलाफ़ इसी तरह का आदेश जारी किया था. इस आदेश को उन्होंने बड़ी बेंच में चुनौती दी थी. उनकी इस अपील काे ख़ारिज़ करते हुए चीफ जस्टिस राजेंद्र मेनन की बेंच ने दिल्ली पुलिस से दो महीने के भीतर इस मामले की जांच पूरी करने काे कहा है.

उच्च न्यायालय ने यह भी निर्देश दिया है कि अतिरिक्त पुलिस आयुक्त के स्तर के अधिकारी को नीरज कुमार और विनोद पांडे के ख़िलाफ़ जांच की ज़िम्मेदारी सौंपी जाए.