‘क्या सरकार वायु सेना की कार्रवाई में 300 आतंकवादियों के मारे जाने के सबूत दे सकती है?’  

— सैम पित्रोदा, ओवरसीज इंडियन नेशनल कांग्रेस के अध्यक्ष

सैम पित्रोदा का यह बयान पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के एक कैंप पर भारतीय वायु सेना द्वारा की गई कार्रवाई को लेकर आया है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘अगर मैं यह सवाल कर रहा हूं तो इसका कतई यह आशय नहीं कि मैं राष्ट्रवादी नहीं हूं. इसका यह मतलब भी नहीं कि मैं किसी का पक्ष ले रहा हूं. हमें सिर्फ सच जानने की जरूरत है.’ सैम पित्रोदा ने आगे कहा, ‘अंतरराष्ट्रीय मीडिया कहती है कि उस कार्रवाई में कोई नहीं मरा था. एक भारतीय होने के नाते यह सुनकर मुझे बुरा लगता है.’

‘विपक्ष आतंकवाद के समर्थकों की शरणस्थली है.’  

— नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

नरेंद्र मोदी का यह बयान कांग्रेस के नेता सैम पित्रोदा के बयान पर पलटवार करते हुए आया है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘गांधी परिवार के सबसे बड़े विश्वासपात्र सलाहकार (सैम पित्रोदा) ने भारतीय सेना को गलत ठहराने की कोशिश की है. यह शर्मनाक है. मैं देशवासियों से अपील करता हूं कि वे खुद विपक्ष के नेताओं से पूछें कि यह लोग बार-बार हमारी सेना का अपमान क्यों कर रहे हैं.’ नरेंद्र मोदी ने आगे कहा, ‘कांग्रेस 26/11 के मुंबई आतंकी हमले का भी जवाब नहीं देना चाहती थी जबकि सेना तैयार थी. लेकिन आज का भारत, नया भारत है. हम आतंकियों को उन्हीं की भाषा में जवाब देंगे.’


‘इनकम टैक्स विभाग को मिली बीएस येद्दियुरप्पा की डायरी झूठ है तो फिर प्रधानमंत्री इसकी जांच से क्यों बच रहे हैं?’  

— रणदीप सिंह सुरजेवाला, कांग्रेस प्रवक्ता

रणदीप सिंह सुरजेवाला ने यह बात द कारवां पत्रिका में प्रकाशित रिपोर्ट के आधार पर कही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधते हुए कही है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘अगर रिश्वत का लेन-देन हुआ है तो वह पैसा कहां गया? इसकी जांच होनी चाहिए.’ उनका यह भी कहना था, ‘देश में लोकपाल की भी नियुक्ति हो गई है. ऐसे में तो उससे ही इस मामले की पहली स्वतंत्र जांच कराई जानी चाहिए.’ इससे पहले इस पत्रिका ने एक डायरी के आधार पर भाजपा के नेता बीएस येद्दियुरप्पा द्वारा पार्टी के वरिष्ठ नेताओं, जजों और वकीलों को करीब 18 सौ करोड़ रुपये दिए जाने का दावा किया था.


‘भारतीय जनता पार्टी के सभी नेता भ्रष्ट हैं.’  

— राहुल गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष

राहुल गांधी का यह बयान भाजपा के नेता बीएस येद्दियुरप्पा द्वारा कथित तौर पर 1800 करोड़ रुपये की रिश्वत दिए जाने को लेकर आया है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘भाजपा के सभी चौकीदार (नेता) चोर हैं. चाहे वे नरेंद्र मोदी हों या अरुण जेटली या फिर राजनाथ सिंह... ही क्यों न हों.’


‘किसी ने नहीं पूछा कि मुझ पर क्या गुजरी थी.’  

— महेंद्र सिंह धोनी, क्रिकेटर

महेंद्र सिंह धोनी का यह बयान साल 2013 के आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में चुप्पी तोड़ते हुए आया है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘वह मेरे जीवन का सबसे कठिन और निराशाजनक दौर था. इससे पहले मैं साल 2007 में तब बेहद निराशा था जब विश्व कप प्रतियोगिता के पहले चरण में ही हमारी टीम बाहर हो गई थी. लेकिन तब हमने खराब क्रिकेट खेला था.’ महेंद्र सिंह धोनी का यह भी कहना था, ‘फिक्सिंग के उस मामले में मेरा नाम भी उछला था. लेकिन मैच फिक्सिंग को मैं कत्ल से भी कहीं बड़ा गुनाह मानता हूं.’