राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) समझौता ब्लास्ट मामले में आरोपित रहे स्वामी असीमानंद को बरी किए जाने के फैसले को चुनौती नहीं देगी. केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने न्यूज चैनल टाइम्स नाउ से बातचीत में यह बात कही है. खबर के मुताबिक राजनाथ सिंह ने कहा, ‘कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है. जो कोई इसके खिलाफ अपील करना चाहता है, वह कर सकता है.’

वहीं, जब गृह मंत्री से पूछा गया कि क्या उनकी सरकार इस फैसले के खिलाफ अपील करेगी तो उन्होंने जवाब दिया, ‘नहीं, सरकार क्यों अपील दाखिल करेगी? इसका कोई मतलब नहीं है.’ इसके साथ ही राजनाथ सिंह समझौता ब्लास्ट मामले में किसी तरह की नई की संभावनाओं को भी खारिज कर दिया. उन्होंने कहा, ‘एनआईए ने मामले की अच्छे से जांच करने के बाद ही चार्जशीट दाखिल की है. अब जब फैसला आ गया है तो उस पर भरोसा करना चाहिए.’

गौरतलब है कि भाजपा जब विपक्ष में थी, तब भी उसका आरोप था कि असीमानंद और अन्य को ‘भगवा आतंकवाद’ के नाम पर गलत तरीके से फंसाया गया है. पार्टी का मानना था कि ‘अल्पसंख्यक तुष्टिकरण’ के तहत भगवा आतंकवाद की कहानी गढ़ी गई थी.