‘नरेंद्र मोदी पाकिस्तान को लव लेटर लिखना बंद करें.’  

— रणदीप सिंह सुरजेवाला, कांग्रेस प्रवक्ता

रणदीप सिंह सुरजेवाला ने यह बात पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के एक ट्वीट के हवाले से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कही है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘श्रीमान 56 साड़ी-शॉल लेकर पाकिस्तान की यात्रा करने और वहां की खुफिया एजेंसी आईएसआई को भारत बुलाने के लिए मशहूर हैं. मोदी ने वहां के प्रधानमंत्री को चोरी-छिपे एक चिट्ठी लिखी है. लेकिन उसमें उन्होंने पाकिस्तान से प्रायोजित आतंकवाद के बारे में एक शब्द भी नहीं लिखा.’ इससे पहले इसी शुक्रवार को इमरान खान ने पाकिस्तान के राष्ट्रीय दिवस की पूर्व संध्या पर मोदी की तरफ से एक बधाई संदेश मिलने का दावा किया था.

‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अनिल अंबानी के चौकीदार हैं.’  

— राहुल गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष

राहुल गांधी ने यह बात बिहार के पूर्णिया में एक रैली को संबोधित करते हुए कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘नरेंद्र मोदी लोगों से कहा करते थे कि मुझे प्रधानमंत्री बनाओ, आप लोगों को जो कुछ चाहिए मैं दूंगा. लेकिन आज उन्होंने सबको चौकीदार बना दिया है.’ इसके साथ ही सवालिया लहजे में उन्होंने कहा, ‘मैं यह जानना चाहता हूं कि क्या चौकीदार किसी गरीब के घर में भी मिलता है.’ राहुल गांधी का यह भी कहना था कि नरेंद्र मोदी आप लोगों को ‘मितरों’ कहते हैं. लेकिन नीरव मोदी, मेहुल चौकसी, अनिल अंबानी को ‘भाई’. मोदी ने मितरों का पैसा अपने भाइयों को दे दिया है.


‘सैम पित्रोदा के बयान पर राहुल गांधी को देश से माफी मांगनी चाहिए.’  

— अमित शाह, भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष

अमित शाह ने यह बात पत्रकारों से बातचीत करते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि सेना ने जब सीमा पार जाकर पाकिस्तान में सर्जिकल स्ट्राइक की थी तो उस वक्त भी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने उसे ‘खून की दलाली’ कहा था. अब उनकी पार्टी के लोग वायु सेना की एयर स्ट्राइक पर सवाल उठा रहे हैं. अमित शाह ने आगे कहा, ‘कांग्रेस के इस बयान से शहीदों का अपमान हुआ है. साथ ही देश को हताहत करने की कोशिश में जुटी ताकतों का मनोबल बढ़ा है.’ इससे पहले शुक्रवार को ओवरसीज कांग्रेस के अध्यक्ष सैम पित्रोदा ने ‘बालाकोट एयर स्ट्राइक’ को लेकर सवाल उठाए थे. साथ ही उस कार्रवाई में मारे गए आतंकियों की संख्या पूछी थी.


‘दिल्ली पुलिस ने आज हमारी रैली नहीं होने दी, हम चुनाव आयोग से इसकी शिकायत करेंगे.’  

— अरविंद केजरीवाल, आम आदमी पार्टी के संयोजक

अरविंद केजरीवाल ने यह बात एक ट्वीट के जरिये कही है. इसी ट्वीट में सवालिया लहजे में उन्होंने यह भी कहा, ‘बीते पांच सालों के दौरान दिल्ली पुलिस ने भाजपा की कितनी रैलियों की अनुमति देने से मना किया है.’ इसके साथ ही अरविंद केजरीवाल ने यह भी कहा, ‘नरेंद्र मोदी दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने के वादे से मुकर गए. अब उन्हें दिल्ली की जनता इसका जवाब देगी.’ उनका यह भी कहना था कि भाजपा के लोगों को मान लेना चाहिए कि वे दिल्ली की सातों सीटें हार रहे हैं.


‘मोदी जी को बताना है कि हम जिताना भी जानते हैं और हराना भी.’  

— चंद्रशेखर आजाद, भीम आर्मी के संस्थापक

चंद्रशेखर आजाद ने यह बात एक इंटरव्यू के दौरान कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि अगर दूसरी पार्टियां नरेंद्र मोदी के खिलाफ मजबूत उम्मीदवार नहीं उतारतीं तो वह खुद वाराणसी से चुनाव लड़ेंगे. चंद्रशेखर आजाद का यह भी कहना था कि उनका उद्देश्य राजनीति करना नहीं बल्कि जुल्म, जाति और अन्याय के खिलाफ अपनी आवाज को मजबूत करना है.