इजरायल की व्यापारिक राजधानी कहे जाने वाले तेल अवीव के पास सोमवार की सुबह एक मकान पर रॉकेट से हमला हुआ है. इजरायल की सेना के मुताबिक यह रॉकेट फिलस्तीन के उग्रवादी संगठन हमास द्वारा प्रशासित गाजा पट्टी के इलाके से दागा गया है. हालांकि हमास ने कहा है कि इस घटना के पीछे वह नहीं है.

समाचार एजेंसी एएफपी ने स्थानीय पुलिस के हवाले से बताया है कि तेल अवीव के उत्तर में लगभग 20 किलोमीटर दूर एक मकान को इस रॉकेट से निशाना बनाया गया है. इस हमले में सात लोग घायल हुए हैं. हमले वाला स्थान गाजा पट्टी से करीब 80 किमी दूर है और फलस्तीनी बस्ती से इतनी दूरी तक रॉकेट दागे जाने को सुरक्षा विशेषज्ञ काफी चौंकाने वाली घटना भी मान रहे हैं.

इजरायल में नौ अप्रैल को चुनाव होने जा रहा है और यही वजह है कि इस रॉकेट हमले के बाद हमास और इजरायल के बीच तनाव बढ़ने की आशंका जताई जा रही है. वहीं इस घटना के मद्देनजर इजरायली सेना ने गाजा के नजदीक सेना की तैनाती बढ़ा दी है. इसके अलावा सेना की दूसरी विशेष इकाइयों को भी यहां बुलाया जा रहा है.

इस समय इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू अमेरिका की यात्रा पर हैं. सोमवार को उनकी अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ट ट्रंप के साथ मुलाकात होनी है. बताया जा रहा है कि इसके तुरंत बाद वे यात्रा बीच में ही छोड़कर स्वदेश लौटेंगे. इस मामले पर नेतन्याहू ने कहा है, ‘इजरायल पर यह एक आपराधिक हमला है और हम इसका जवाब देंगे.मैं कुछ घंटे में राष्ट्रपति (डोनाल्ड) ट्रंप से मुलाकात करूंगा और इसके तुरंत बाद ऑपरेशन का नेतृत्व करने के लिए इजरायल वापस लौटूंगा.’