तेलंगाना में तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी), भारतीय कम्यूनिस्ट पार्टी (सीपीआई) और तेलंगाना जन समिति (टीजेएस) लोकसभा चुनावों के लिए कांग्रेस का समर्थन करेंगी. इससे राज्य में कांग्रेस को और ताकत मिल गई है. ये पार्टियां पिछले साल दिसंबर के दौरान हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की अगुवाई वाले गठबंधन ‘प्रजाकुटुंबी’ का हिस्सा थीं. हालांकि लोकसभा चुनाव के लिए इनके बीच कोई औपचारिक गठबंधन नहीं हुआ है.

पीटीआई के मुताबिक कांग्रेस राज्य की सभी 17 सीटों पर चुनाव लड़ रही है. जबकि आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडु की अध्यक्षता वाली टीडीपी ने यहां लोकसभा चुनाव न लड़ने का फैसला किया है. इसके साथ ही पार्टी के प्रवक्तानेल्लोर दुर्गा प्रसाद ने कांग्रेस का समर्थन करने का संकेत देते हुएकहा है कि टीडीपी संसदीय क्षेत्रों में टीआरएस और भाजपा के खिलाफ लड़ने वाली किसी भी प्रमुख पार्टी का समर्थन करेगी. वहीं तेलंगाना जन समिति (टीजेएस) के अध्यक्ष प्रोफेसर एम कोदनदरम ने कहा है कि उनकी पार्टी ने तीन क्षेत्रों महबूबाबाद, खम्मम और हैदराबाद में उम्मीदवार उतारे हैं और बाकी 14 सीटों पर उनकी पार्टी कांग्रेस उम्मीदवारों का समर्थन करेगी.

सीपीआई और सीपीएम ने तेलंगाना की चार सीटों को लेकर बंटवारा समझौता किया है. इसके हिसाब से सीपीआई महबूबाबाद और भोंगीर और सीपीएम खम्मम और नलगोंडा लोकसभा सीट पर अपने उम्मीदवार उतारेगी. सीपीआई महासचिव एस सुधाकर रेड्डी ने जानकारी दी है, ‘बाकी सीटों पर हम कांग्रेस का समर्थन करेंगे जो कि लोकसभा सीटों पर टीआरएस और भाजपा को हरा सकती है.’