पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को जेल से रिहा कर दिया गया है. मंगलवार को पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने चिकित्सकीय आधार पर उनकी छह हफ्तों की जमानत मंजूर की थी. 69 साल के नवाज शरीफ पिछले साल दिसंबर से लाहौर की कोट लखपत जेल में बंद थे. उन्हें अल-अजीजिया स्टीफ मिल भ्रष्टाचार मामले में सात साल कारावास की सजा सुनाई गई है. हालांकि नवाज शरीफ खुद को निर्दोष बताते हैं.

नवाज की बेटी मरियम नवाज के मुताबिक उनके पिता को हाल के हफ्तों में एनजाइना के चार दौरे पड़े थे. इसके मद्देनजर शरीफ ने सुप्रीम कोर्ट में जमानत के लिए याचिका दायर की थी जिसे तीन न्यायाधीशों की पीठ ने स्वीकार कर लिया था. कोर्ट ने शरीफ को देश के अंदर अपनी पसंद के किसी भी अस्पताल में इलाज कराने की इजाजत दी है. इसके साथ ही न्यायालय ने शरीफ को 50-50 लाख पाकिस्तानी रुपये के दो जमानती मुचलके जमा कराने का निर्देश दिया है.

उधर, पूर्व प्रधानमंत्री के सहयोगी और पीएमएल-एन के कार्यकर्ता आज बड़ी संख्या में कोट लखपत जेल के बाहर इकट्ठा हो गए. पीटीआई के मुताबिक जब नवाज वहां से जा रहे थे तो उन्होंने उनकी कार पर फूलों की बारिश की.