आंध्र प्रदेश में लोक सभा और विधानसभा चुनावों के लिए प्रचार में गर्मी आना शुरू हो गई है. इसी मंगलवार को यहां जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और एनसी (नेशनल कॉन्फ्रेंस) के नेता फ़ारुक़ अब्दुल्ला सत्ताधारी तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) के लिए चुनाव प्रचार करने पहुंचे. उन्हाेंने राज्य में विपक्ष के नेता जगन मोहन रेड्‌डी पर सनसनीख़ेज़ आरोप भी जड़ दिया. फ़ारुक़ अब्दुल्ला के मुताबिक, ‘जगन मोहन रेड्‌डी ने आंध्र प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने के लिए कांग्रेस को 1,500 करोड़ रुपए देने की पेशकश की थी.’

फ़ारुक़ अब्दुल्ला ने कड़प्पा और कुरनूल जिलों में जनसभाओं को संबोधित किया. उन्होंने कहा, ‘मुझे याद है. वह (जगन) एक बार मेरे घर आए थे. उन्होंने मुझे बताया था कि वह कांग्रेस को 1,500 करोड़ रुपए देने के लिए तैयार हैं. बशर्ते पार्टी उन्हें आंध्र प्रदेश का मुख्यमंत्री बना दे. यह तब की बात है जब जगन मोहन के पिता और आंध्र प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री वाईएस राजशेखर रेड्‌डी का एक हेलीकॉप्टर दुर्घटना में निधन हो गया था.’ इसके साथ फ़ारुक़ अब्दुल्ला ने जगन मोहन पर सवाल भी दागे.

फ़ारुक़ अब्दुल्ला ने पूछा, ‘वह पैसा कहां से आया था? उनके (जगन के) पास कोई ख़ज़ाना तो है नहीं? यह निश्चित तौर पर जनता का पैसा है? अगर ऐसा व्यक्ति आपका (आम जनता का) भविष्य उज्जवल करने का वादा करके आप से वोट मांगता है तो उस पर भराेसा मत कीजिए. ऐसा आदमी आपका भविष्य बर्बाद कर देगा.’ ग़ौरतलब है कि जगन मोहन ने पिता की मृत्यु के बाद कांग्रेस से नाराज़ होकर पार्टी छोड़ दी थी. इसके बाद उन्होंने पिता के नाम पर वाईएसआर कांग्रेस का गठन कर लिया था.

ख़बरों की मानें तो इस बार जगन की पार्टी मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू की टीडीपी को गंभीर चुनौती दे रही है. कहा जा रहा है कि जगन मोहन विधानसभा में बहुमत भी हासिल कर सकते हैं. वैसे यहीं दूसरी बात ग़ौर करने की यह भी है कि जगन मोहन पर भ्रष्टाचार का मामला चल रहा है. वे इस मामले में जेल भी हो आए हैं और ज़मानत पर बाहर हैं. उन पर आय से अधिक संपत्ति जमा करने के आरोप उस समय के हैं जब उनके पिता संयुक्त आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री हुआ करते थे.