रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने इस बात की पुष्टि की है कि न्यूनतम आय गारंटी योजना (न्याय) को लेकर उन्होंने कांग्रेस नेतृत्व को सलाह दी थी. स्क्रोल डॉट इन के मुताबिक आरबीआई के पूर्व गवर्नर ने यह बात इसी बुधवार को मुंबई में अपनी किताब ‘द थर्ड पिलर’ के विमोचन के मौके पर कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि इस बारे में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के साथ उनकी बातचीत हुई थी.

रघुराम राजन ने आगे कहा बैंक खातों में नकद भुगतान के जरिये भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) देश के गरीब किसानों की मदद कर रही है. अब कांग्रेस ने भी कुछ वैसी ही योजना पर विचार किया है. इससे स्पष्ट होता है कि गरीबी मिटाने के लिहाज से देश में नकद हस्तांतरण एक सही रास्ता है. रघुराम राजन के मुताबिक न्याय एक बेहतरीन विचार है जिसे हकीकत के धरातल पर उतारा जाना चाहिए क्योंकि इससे देश के 20 फीसदी गरीब परिवारों को फायदा पहुंचेगा.

इससे पहले इसी सोमवार को राहुल गांधी ने इस योजना की जानकारी देते हुए कहा था कि अगले चुनाव में अगर उनकी सरकार बनी तो ‘न्याय’ को लागू किया जाएगा. तब उन्होंने यह भी कहा था कि इस योजना से देश के पांच करोड़ गरीब परिवारों और 25 करोड़ लोगों को फायदा पहुंचेगा. उनका यह भी कहना था कि इस योजना के संंबध में कई बड़े अर्थशास्त्रियों की सलाह भी ली गई है.