राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के प्रमुख लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने पार्टी की छात्र इकाई के संरक्षक पद से अपना इस्तीफा दे दिया है. तेज प्रताप यादव ने इसकी घोषणा एक ट्वीट के जरिये की है. इस ट्वीट में उन्होंने यह भी लिखा है, ‘नादान हैं वे लोग जो मुझे नादान समझते हैं. कौन कितना पानी में है सबकी खबर है मुझे.’ माना जा रहा है कि लालू प्रसाद यादव के परिवार की यह अंदरूनी लड़ाई अगले महीने होने वाले चुनाव में उनकी पार्टी को बड़ा नुकसान पहुंचा सकती है.

बताया जाता है कि तेज प्रताप यादव बिहार महागठबंधन के तहत हुए सीटों के बंटवारे से खुश नहीं हैं. इसके अलावा राजद ने लोकसभा चुनाव के लिए अपने उम्मीदवारों की अगली सूची तैयार कर ली है. लेकिन इस सूची में तेज प्रताप अपने कुछ नजदीकी समर्थकों का नाम शामिल कराना चाहते हैं. इसीलिए उन्होंने ‘दबाव की रणनीति’ के तहत यह कदम उठाया है.

इसके साथ ही यह भी माना जा रहा है कि वे अपने ससुर चंद्रिका राय को इस चुनाव में उम्मीदवार बनाए जाने से भी नाखुश हैं. आठ बार विधायक रह चुके चंद्रिका राय को राजद छपरा संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़वाने पर विचार कर रही है. लेकिन तेज प्रताप उनकी बेटी ऐश्वर्या राय से तलाक लेने के लिए अर्जी दाखिल कर चुके हैं इसीलिए वह उन्हें टिकट दिए जाने के पक्ष में नहीं हैं.