देश में लोक सभा के साथ-साथ कुछ राज्यों में विधानसभा चुनाव की प्रक्रिया चल रही है. चुनाव आचार संहिता 10 मार्च से लागू है. लेकिन इसके बीच ही चुनाव आचार संहिता का खुला उल्लंघन करते हुए रेल मंत्रालय यात्री ट्रेनों में ‘मैं भी चौकीदार अभियान की सेवा’ भी जारी रखे हुए है.

एक रेल यात्री के ट्वीट के जरिए यह मामला सामने आया है. इसमें बताया गया है कि ट्रेन संख्या ‘12040 काठगोदाम शताब्दी एक्सप्रेस में सफर के दौरान दो बार यात्रियों को जिन प्यालों में चाय पेश की गई, उन पर ‘मैं भी चौकीदार’ अभियान की ब्रांडिंग की गई थी.’ इसके साथ ही यात्री ने सवाल भी किया, ‘क्या यह चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन नहीं है?’ पायल मेहता नाम की एक अन्य यूज़र ने इस जानकारी को रीट्वीट किया है. उन्हाेंने इसमें रेल मंत्रालय, रेल मंत्री पीयूष गोयल और चुनाव आयोग के प्रवक्ता को टैग भी किया है.

ग़ौरतलब है कि लोक सभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए ‘मैं भी चौकीदार’ अभियान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुरू किया है, जो अपने आप को ‘देश का चौकीदार’ कहते हैं. इसके बाद अब भारतीय जनता पार्टी के नेता और कार्यकर्ता अपने-अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर नामों के आगे ‘चौकीदार’ लगाकर इस अभियान के प्रति अपना समर्थन जता रहे हैं. भाजपा इसके अलावा अन्य तौर-तरीकों से भी इस अभियान को प्रचारित-प्रसारित करने में जुटी है.

अभी दो दिन पहले चुनाव आयोग ने रेल और उड्‌डयन मंत्रालयों को नोटिस भी जारी किया था. समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक आचार संहिता लागू होने के बाद भी रेल और हवाई यात्रा टिकटों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर नहीं हटाए जाने की वज़ह से चुनाव आयोग ने यह कार्रवाई की थी. इस बाबत विभिन्न दलों और व्यक्तियों ने आयोग में शिकायत की थी. इन शिकायतों को आयोग ने पहली नज़र में सही मानते हुए यह नोटिस जारी किए थे.