चुनाव आयोग राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह की राष्ट्रपति रामनाथ सिंह कोविंद से शिकायत करेगा. कल्याण सिंह ने उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं से बातचीत के दौरान ख़ुद काे ‘भाजपा कार्यकर्ता’ बताया था. साथ ही अन्य कार्यकर्ताओं से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फिर जिताने की अपील भी की थी.

ख़बरों के मुताबिक चुनाव आयोग ने कल्याण सिंह के इस कृत्य को आचार संहिता का उल्लंघन माना है. सूत्रों के मुताबिक चुनाव आयोग अब इस बाबत राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को पत्र लिखने की तैयारी कर रहा है. इसमें राष्ट्रपति को बताया जाएगा कि राज्यपाल ‘कल्याण सिंह ने चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन कर संवैधानिक पद की गरिमा काे कम किया है. लिहाज़ा राष्ट्रपति उचित समझें तो कल्याण सिंह के ख़िलाफ़ ज़रूरी कदम उठाने पर विचार करें.’

ग़ौरतलब है कि चुनाव आयोग द्वारा किसी राज्यपाल को आचार संहिता के उल्लंघन का दोषी मानने का यह दूसरा मामला है. इससे पहले 1993 में हिमाचल प्रदेश के तत्कालीन राज्यपाल गुलशेर अहमद को भी चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन का दोषी माना गया था. वे उस वक़्त चुनाव लड़ रहे अपने पुत्र सईद अहमद के पक्ष में प्रचार करते हुए पाए गए थे. यह मामला सामने आने के बाद गुलशेर अहमद ने राज्यपाल के पद से इस्तीफ़ा दे दिया था.