मोबाइल और कंप्यूटर के बिना आज की दुनिया की कल्पना नहीं की जा सकती. इन दो अविष्कारों ने दूरसंचार और सूचना प्रौद्योगिकी की सूरत बदलकर रख दी है. दिलचस्प बात यह है कि इन दोनों असाधारण अविष्कारों का तीन अप्रैल के दिन से खास ताल्लुक रहा है.

दरअसल, तीन अप्रैल, 1973 के दिन मार्टिन कूपर ने हैंड हेल्ड मोबाइल फोन से बेल लैब्स के जोएल एस एंजेल को पहला फोन किया था. कूपर को आज के मोबाइल फोन का जनक कहा जाता है. उस समय कूपर मोटरोला कंपनी के लिए काम करते थे. अमेरिका में कार फोन का इस्तेमाल 1930 से हो रहा था, लेकिन हैंड हेल्ड फोन का इस्तेमाल 45 साल पहले आज ही के दिन हुआ.

वहीं, यह भी एक इत्तफाक है कि 1981 में तीन अप्रैल के ही दिन सैन फ्रांसिस्को के ब्रुक्स हॉल में ओसबोर्न कंप्यूटर कॉरपोरेशन के एडम ओसबोर्न द्वारा तैयार पहले पोर्टेबल कंप्यूटर का नमूना पेश किया गया. इसका वजन करीब 24 पाउंड था.

देश-दुनिया के इतिहास में तीन अप्रैल की तारीख में दर्ज अन्य महत्वपूर्ण घटनाओं का सिलसिलेवार ब्यौरा इस प्रकार है:

1680 : पश्चिम भारत में मराठा सम्राज्य की नींव रखने वाले छत्रपति शिवाजी की रायगढ में मृत्यु.

1903 : समाज सुधारक एवं स्वतंत्रता सेनानी कमला देवी चट्टोपाध्याय का जन्म.

1914 : भारत के पहले फील्ड मार्शल एसएचएफ जे मानेकशॉ का जन्म.

1929 : मशहूर हिंदी साहित्यकार निर्मल वर्मा का जन्म.

1942 : जापान ने द्वितीय विश्वयुद्ध में अमेरिका पर आखिरी दौर की सैन्य कार्यवाई शुरू की.

1984 : भारत के स्क्वाड्रन लीडर राकेश शर्मा को सोवियत यान में अंतरिक्ष यात्रा पर जाने के लिए चुना गया. यह उपलब्धि हासिल करने वाले वे पहले भारतीय बने.

2010 : एपल का पहला आईपैड मार्केट में आया.