अमेरिकी विदेश विभाग ने भारत को एमएच-60आर मल्टी मिशन (विभिन्न अभियानों में काम आने वाले) हेलीकॉप्टर बेचने की मंज़ूरी दे दी है. अमेरिका की रक्षा सुरक्षा सहयोग एजेंसी (डीएससीए) ने मंगलवार को एक विज्ञप्ति जारी कर यह जानकारी दी.

ख़बरों के मुताबिक अमेरिका से भारत को 2.6 अरब डॉलर (178 अरब रुपए लगभग) में इस तरह के 24 हेलीकॉप्टर मिल सकते हैं. इन हेलीकॉप्टराें की आपूर्ति इनकी निर्माता कंपनी लॉकहीड मार्टिन की ओर से की जाएगी. बताया जाता है कि डीएससीए ने इस सौदे के बारे में अधिसूचना भी जारी कर दी है. इस अधिसूचना के तहत 30 दिन की समय सीमा निर्धारित है. इस दौरान अमेरिकी संसद इस सौदे को या तो मंज़ूर कर सकती है या नामंज़ूर.

ख़बर की मानें तो अगर संसद इस सौदे काे मंज़ूर या नामंज़ूर नहीं करती तब भी मान लिया जाएगा कि उसे इस पर कोई आपत्ति नहीं है. ऐसे में सौदे की आगे की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी. डीएससीए के मुताबिक, ‘इन हेलीकॉप्टरों की आपूर्ति के बाद भारत ज़मीनी युद्ध में टैंकों आदि के ख़िलाफ़ और समुद्र में पनडुब्बियों के विरुद्ध मारक संघर्ष में ज़्यादा प्रभावी और सक्षम हो जाएगा. ये हेलीकॉप्टर राहत, बचाव, तलाशी अभियान, सूचना-संवाद आदि में भी काम आ सकते हैं.’