इतिहास में पांच अप्रैल का दिन हिंदी फिल्म जगत की एक ऐसी हस्ती की मौत से जुड़ा है जिसने अपने छोटे से करियर में ही लोकप्रियता के तमाम मुकाम छू लिए थे. अभिनेत्री दिव्या भारती मात्र 19 साल की थीं जब अपने फ्लैट की खिड़की से फिसल कर गिरने से उनकी मौत हो गई थी. वह हादसा 1993 में आज ही के दिन हुआ था. यह आज तक पता नहीं चल सका कि यह हादसा था या दिव्या को हत्या की कोशिश के तहत धक्का दिया गया था. उनकी मौत को बॉलीवुड आज तक भुला नहीं पाया है और प्रशंसकों के लिए उनका जाना अभी भी एक सदमे की तरह है. कहा जाता है कि अगर आज दिव्या भारती जिंदा होतीं तो हिंदी सिनेमा की सबसे सफल और लोकप्रिय अभिनेत्रियों में शुमार होतीं.

देश-दुनिया के इतिहास में पांच अप्रैल की तारीख में अन्य महत्वपूर्ण घटनाओं का ब्यौरा इस प्रकार है:

1659 : मकसूदाबाद की लड़ाई में शुजा की हार.

1843 : ब्रिटेन की महारानी विक्टोरिया ने हांगकांग को ब्रिटिश कॉलोनी में शामिल करने का ऐलान किया.

1908 : भारत के पहले दलित उप-प्रधानमंत्री बाबू जगजीवन राम का जन्म.

1919 : आधुनिक भारतीय मर्चेंट शिपिंग की शुरूआत. सिंधिया स्टीम नेविगेशन कंपनी का 5,940 टन का पोत लिबर्टी अपनी पहली यात्रा पर रवाना हुआ.

1930 : गांधी जी नमक कानून तोड़ने के लिए अपने अनुयायियों के साथ दांडी पहुंचे.

1949 : भारत स्काउट्स एंड गाइड्स की स्थापना.

1955 : विस्टन चर्चिल ने ब्रिटिश प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा दिया.

1961 : सरकार के प्रायोजन वाली पहली फार्मास्यूटिकल कंपनी इंडियन ड्रग्स एंड फार्मास्यूटिकल लिमिटेड की स्थापना.

1964 : मर्चेंट नेवी के लिए देश में पहली बार नेशनल मेरिटाइम डे मनाया गया.

1979 : देश का पहला नौसेना संग्रहालय बंबई (अब मुम्बई) में खुला.

1986 : मुनि की रेती में हिलने वाले सबसे बड़े पुल शिवानंदझूला के निर्माण का काम पूरा.

1999 : मलेशिया में हेंड्रा नामक वायरस से बचाव के लिए आठ लाख 30 हजार सुअरों को जान से मारने के अभियान की शुरुआत की गई.