‘जो अपनी बीवी का ख्याल नहीं रखते, लोगों का ख्याल कैसे रखेंगे?’  

— ममता बनर्जी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री

ममता बनर्जी ने यह बात पश्चिम बंगाल के अलीपुरद्वार में एक रैली को दिए संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘2014 के चुनाव प्रचार के वक्त मोदी ने जो वादे किए थे, उनमें से उन्होंने एक भी पूरा नहीं किया.’ ममता बनर्जी ने आगे कहा, ‘देश को बचाने के लिए इस आम चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का हराना होगा.’ इसके साथ ही उनका यह भी कहना था कि नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) और नागरिकता संशोधन विधेयक के नाम पर भाजपा देश के वैध नागरिकों को भी विदेशी बनाने की कोशिश कर रही है.

‘एक सोची-समझी साजिश के तहत इस देश की आत्मा कुचली जा रही है.’  

— सोनिया गांधी, कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष

सोनिया गांधी ने यह बात दिल्ली में एक कार्यक्रम के दौरान नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार पर निशाना साधते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘सत्ताधारी पार्टी आज लोगों को देशभक्ति का नया पाठ पढ़ा रही है. ऐसा पाठ जिसमें वे लोग जो विविधता का सम्मान नहीं करते, उन्हें देशभक्त कहा जा रहा है.’ सोनिया गांधी ने आगे कहा, ‘मौजूदा सरकार असहमतियों का सम्मान करने के लिए तैयार नहीं है. भारत में आज जो लोग अपनी आस्थाओं पर अडिग हैं, उनपर हमले किए जा रहे हैं. चिंताजनक बात यह है कि सरकार ऐसी घटनाओं से मुंह फेर रही है.’


‘भारतीय जनता पार्टी युद्ध का माहौल बनाकर चुनाव जीतना चाहती थी.’  

— इमरान खान, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री

इमरान खान का यह बयान भाजपा पर युद्धोन्माद फैलाने का आरोप लगाते हुए एक ट्वीट के जरिये आया है. एक अमेरिकी पत्रिका ‘फॉरेन पॉलिसी’ की एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए उन्होंने कहा, ‘सच की हमेशा जीत होती है. यही सबसे अच्छी नीति है.’ इमरान खान ने आगे कहा, ‘पाकिस्तान के एफ-16 विमान को मार ​गिराने के झूठे दावे भाजपा पर तब उलटे पड़ गए जब अमेरिकी रक्षा अधिकारियों ने भी पुष्टि दी कि पाकिस्तानी बेड़े से कोई एफ-16 गायब नहीं है.’


‘राजस्थान के राज्यपाल और नीति आयोग के उपाध्यक्ष को अपने पद से इस्तीफा देना चाहिए.’  

— पी चिदंबरम, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता

पी चिदंबरम ने यह बात एक ट्वीट के जरिये कही है. इसी ट्वीट से उन्होंने यह भी कहा कि राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह और नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार पर चुनाव आयोग ने आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के आरोप लगाए हैं. इन आरोपों के मद्देनजर उन दोनों को अपने-अपने पद पर बने रहने का कोई अधिकार नहीं है.


‘राहुल गांधी कृपया भाषा की मर्यादा रखने की कोशिश करें.’  

— सुषमा स्वराज, भाजपा की वरिष्ठ नेता

सुषमा स्वराज का यह बयान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के एक बयान पर पलटवार करते हुए आया है. एक ट्वीट के जरिये सुषमा स्वराज ने कहा, ‘राहुल जी - लालकृष्ण आडवाणी हमारे पिता तुल्य हैं. आपके बयान ने हमें बहुत आहत किया है.’ इससे पहले इसी शुक्रवार, एक रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने लालकृष्ण आडवाणी को नरेंद्र मोदी का गुरु बताया था. साथ ही यह भी कहा था कि नरेंद्र मोदी ने अपने गुरु लालकृष्ण आडवाणी को ‘जूता मारकर स्टेज से नीचे उतार दिया.’