उत्तर प्रदेश के गन्ना मंत्री सुरेश राणा ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को गन्ने और चरी के बीच फर्क बताने की चुनौती दी है. रविवार को राणा ने कहा, ‘प्रियंका गांधी गन्ने और पशुओं के चारे के लिए उगाई जाने वाली चरी के बीच अंतर बता दें तो मैं मान जाऊंगा कि उन्हें किसानों के हित के बारे में बोलने का हक है.’

सुरेश राणा ने दावा किया कि वर्ष 2017 में प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद से अब तक गन्ना किसानों का करीब 60 हजार करोड़ रुपये का बकाया चुकाया जा चुका है. उनके मुताबिक यह रकम कई राज्यों के कुल बजट से भी ज्यादा है.

पिछले दिनों प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश में गन्ना किसानों का 10 हजार करोड़ रुपये बकाया होने को लेकर राज्य सरकार पर निशाना साधा था. उन्होंने कहा था, ‘गन्ना किसानों के परिवार दिन-रात मेहनत करते हैं. मगर उत्तर प्रदेश सरकार उनके भुगतान का भी जिम्मा नहीं लेती. किसानों के 10 हजार करोड़ रुपये बकाया होने का मतलब उनके बच्चों की शिक्षा, भोजन, स्वास्थ्य और अगली फसल... सब कुछ ठप्प हो जाना है.’