लोकसभा चुनाव के मद्देजनर जारी किए गए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के संकल्प पत्र (घोषणापत्र) पर तंज कसते हुए कांग्रेस ने इसे ‘झांसा पत्र’ करार दिया है. कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने एक ट्वीट के जरिये कहा है, ‘मोदी सरकार का सफर जुमलों से झांसों तक का रहा है. एक बार फिर उन्होंने झांसा पत्र तैयार किया है. लेकिन देश की जनता इस बार उसे खारिज करेगी.’ इसी ट्वीट में रणदीप सिंह सुरजेवाला ने यह भी लिखा है कि भाजपा की अगुवाई वाली सरकार को सत्ता से छोड़ने के लिए तैयार हो जाना चाहिए.

वहीं कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता जयवीर शेरगिल का कहना है, ‘नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार में बेरोजगारी और किसान आत्महत्या के मामलों में वृद्धि हुई है. व्यापारी वर्ग परेशान है.’ उन्होंने आगे कहा, ‘2014 के आम चुनाव के दौरान किए गए वादों को पूरा नहीं करके भाजपा ने जनता को धोखा दिया है. ऐसे में उसे संकल्प पत्र के बजाय माफी पत्र जारी करना चाहिए था.’

इसके अलावा कांग्रेस ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट के जरिये भी भाजपा के चुनावी घोषणापत्र के मुखपृष्ठ की आलोचना की है. कांग्रेस ने लिखा है, ‘घोषणापत्र की तस्वीर बताती है कि हमारे लिए देश के लोग महत्वपूर्ण हैं और उनके (भाजपा) लिए अपना चेहरा. हमारे घोषणापत्र में देश के करोड़ों लोगों के विचारों का समावेश है, जबकि भाजपा के घोषणापत्र में सिर्फ एक व्यक्ति के मन की बात.’ इसी ट्वीट में कांग्रेस ने आगे लिखा है, ‘अब देश अपने मन का फैसला सुनाएगा.’

इससे पहले सोमवार को ही भाजपा ने अपना घोषणा पत्र जारी किया था. इसके जरिये अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण की बात भाजपा ने बार फिर दोहराई है. साथ ही यह भी कहा है कि उनकी पार्टी की सरकार जम्मू-कश्मीर से संविधान के अनुच्छेद-35ए को खत्म करेगी. इसके अलावा समान नागरिक संहिता और नागरिकता संशोधन कानून लागू करने के साथ ही आतंकवाद के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाई जाएगी.