सोशल मीडिया कंपनियों पर लगाम लगाने के मकसद से ब्रिटेन जल्द ही कानून बनाने जा रहा है. सोमवार को वहां की संसद में इसे लेकर एक बिल पेश किया गया है.

पीटीआई के मुताबिक ब्रिटेन के संस्कृति और मीडिया मंत्री जेरेमी राइट ने मीडिया को इसकी जानकारी देते हुए कहा, ‘हम सोशल मीडिया को लेकर संसद में आज एक प्रस्ताव रख रहे हैं, यह कानून सोशल मीडिया कंपनियों को अपने उपयोगकर्ताओं को सुरक्षित रखने के लिए बाध्य करेगा.’ मंत्री ने कहा, ‘ये प्रस्ताव इस मामले में दुनिया भर में आये किसी भी प्रस्ताव से बेहतर है. किसी और देश ने पहले ऐसा नहीं किया है.’

पीटीआई के मुताबिक यह बिल सोशल मीडिया कंपनियों के शीर्षतम अधिकारियों को नुकसानदेह सामग्री मिलने पर व्यक्तिगत रूप से जवाबदेह बनाएगा और आपत्तिजनक सामग्री पर पाबंदी लगाएगा. इस बिल में कहा गया है कि सोशल मीडिया कंपनियों को इस बात की जिम्मेदारी लेनी होगी कि वे ऑनलाइन नुकसानदेह बातों की पहचान करें और उन्हें तुरंत हटाएं. बताते हैं कि जो कंपनियां ऐसा नहीं करेंगी उन्हें पहले चेतावनी जारी की जाएगी फिर उन पर दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी.

सरकारी अधिकारियों के मुताबिक यह बिल फेसबुक जैसी सोशल मीडिया कंपनियों से चर्चा करने के बाद तैयार किया गया है. हालांकि, सोशल मीडिया से जुड़ी उन कंपनियों ने इसका थोड़ा विरोध भी किया था जिन पर नफरत और अभद्र भाषा को बढ़ावा देने के आरोप हैं. इस बिल में लिखी कुछ बातों को लेकर अभिव्यक्ति की आजादी की चिंताएं भी सामने आयी हैं.

ब्रिटिश मीडिया के मुताबिक यह बहुप्रतीक्षित बिल आने वाले महीनों में ब्रिटेन की संसद से पारित हो सकता है. ऐसा होते ही ब्रिटेन सोशल मीडिया को लेकर इस तरह का कानून बनाने वाला दुनिया का पहला देश बन जाएगा.