‘देश में दो प्रधानमंत्री न तो सरदार पटेल को मंजूर थे और न ही हमें मंजूर हैं.’  

— नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

नरेंद्र मोदी ने यह बात गुजरात में एक जनसभा को संबोधित करते हुए जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला के एक बयान पर निशाना साधते हुए कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘सरदार पटेल की वजह से ही हम जूनागढ़ सहित कई दूसरी रियासतों का भारत में विलय करवा सके. लेकिन जम्मू-कश्मीर के विषय को पंडित नेहरू ने अपने पास रखा. उसका परिणाम हम आज तक भुगत रहे हैं.’ नरेंद्र मोदी ने आगे कहा, ‘सरदार पटेल का दिखलाया रास्ता अगर कांग्रेस ने अपनाया होता तो आज देश बहुत आगे निकल गया होता.’ इससे पहले हाल में उमर अब्दुल्ला ने जम्मू-कश्मीर के लिए अलग प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति की व्यवस्था बहाल कराने संबंधी बात कही थी.

‘मुस्लिम महिलाएं अपने सच्चे भाइयों को पहचानें.’  

— योगी आदित्यनाथ, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री

योगी आदित्यनाथ ने यह बात उत्तर प्रदेश के बरेली में एक जनसभा संबोधित करने के दौरान तीन तलाक के मुद्दे को लेकर विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘समाजवादी पार्टी (सपा), बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और कांग्रेस ने तीन तलाक को लेकर कुछ नहीं किया. क्योंकि उन्हें अपना जनाधार खिसकने डर था.’ योगी आदित्यनाथ ने आगे कहा, ‘भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने आगे बढ़कर मुस्लिम बहनों को इस समस्या से निजात दिलाई. उनके लिए यह किसी आजादी से कम नहीं है.’

‘केंद्र में कांग्रेस की सरकार बनी तो रफाल सौदे की जांच करवाकर नरेंद्र मोदी को जेल भेजा जाएगा.’  

— राहुल गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष

राहुल गांधी ने यह बात पश्चिम बंगाल के रायगंज में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने भी माना है कि रफाल सौदे में कुछ घोटाला जरूर हुआ है. उन्होंने आगे कहा, ‘मैं आप लोगों को विश्वास दिलाता हूं कि कांग्रेस की सरकार बनने पर रफाल सौदे के हर दोषी को सलाखों के पीछे भेजा जाएगा.’ इसके साथ ही राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री पर देश को दो हिस्सों में बांटने की कोशिश करने का आरोप भी लगाया. उन्होंने कहा कि एक हिस्सा अनिल अंबानी और नीरव मोदी जैसे उनके दोस्तों का होगा और दूसरा गरीब हिंदुस्तानियों का.


‘राहुल गांधी रफाल सौदे पर आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले की गलत व्याख्या न करें.’  

— निर्मला सीतारमण, रक्षा मंत्री

निर्मला सीतारमण ने यह बात राहुल गांधी के एक बयान पर पलटवार करते हुए कही है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘हम सभी अच्छी तरह जानते हैं कि राहुल गांधी ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का आधा हिस्सा भी नहीं पढ़ा होगा. इसके बावजूद वे यह कहते फिर रहे हैं कि सुप्रीम कोर्ट ने मान लिया है कि रफाल सौदे में नरेंद्र मोदी ने चोरी की है.’ निर्मला सीतारमण के मुताबिक राहुल गांधी का ऐसा बयान शीर्ष अदालत की अवमानना की श्रेणी में आता है. इसके साथ ही उनका यह भी कहना था कि राहुल गांधी खुद जमानत पर बाहर हैं, इसलिए उन्हें ऐसी बातें करना शोभा नहीं देता.


‘उस दौरान जो कुछ भी हुआ और उसकी वजह से लोगों को जो पीड़ा पहुंची उसका हमें बेहद अफसोस है.’  

— थेरेसा मे, ब्रिटेन की प्रधानमंत्री

थेरेसा मे का यह बयान 13 अप्रैल 1919 को पंजाब में अमृतसर के जलियावाला बाग में हुए हत्याकांड पर अफसोस जताते हुए आया है. इसके साथ ही उन्होंने उस नरसंहार को भारत-ब्रिटेन के इतिहास का ‘शर्मनाक दाग’ भी बताया. थेरेसा मे का यह भी कहना था, ‘मुझे इस बात की बेहद खुशी है कि सुरक्षा और संपन्नता के क्षेत्र में आज भारत और ब्रिटेन पारस्परिक सहयोग कर रहे हैं.’