आज लोकसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान था और सोशल मीडिया पर आम से लेकर कई खास लोगों तक ने वोटिंग के बाद स्याही लगी अपनी उंगली की तस्वीर शेयर की हैं. इसके अलावा यहां गुरुवार को भी हमेशा की तरह राजनीतिक बहसबाजी तो चलती ही रही. लेकिन इसका एक मजेदार पहलू यह रहा कि आज कई लोगों ने अपनी टिप्पणियों में ब्लैक होल का जिक्र करते हुए विरोधियों पर निशाना साधा है. यह इसलिए हुआ कि दो दिन से फेसबुक और ट्विटर पर पहली बार ब्लैक होल की तस्वीर लिए जाने से जुड़ी खबर चर्चा में है.

इस खबर के हवाले से समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव के ट्विटर हैंडल से भाजपा पर चुटकी ली गई है, ‘अब तो ब्लैक होल भी दिख गया... बस अच्छे दिन ही हैं जो नजर नहीं आते.’ ऐसी एक और मजेदार टिप्पणी है, ‘अब कोई यह भी बताए कि आखिर कांग्रेस के 70 साल के शासन में ब्लैक होल क्यों नहीं दिखा!’

सोशल मीडिया में ब्लैक होल की इस खबर को भारतीय राजनीति से जोड़कर आई कुछ और मजेदार टिप्पणियां :

रंजोना बनर्जी | @ranjona

अमेरिका भी क्या बकवास देश है. यहां वैज्ञानिकों ने ब्लैक होल की खोज का श्रेय लिया है न कि राष्ट्रपति ने! बहुत ही अजीब है ये तो!

अमित तिवारी | facebook

नासा को पहला ब्लैक होल मिल गया है… उन्होंने अगला टार्गेट मोदीजी की डिग्री को बनाया है.

कृष्णप्रसाद थायल | @Kripathyl1

कांग्रेस और महागठबंधन के वोट हैक की हुई ईवीएम से सीधे इसी ब्लैक होल में भेजी जा रही हैं.

सुमन शर्मा | @SumannSharrma

कांग्रेस के नेता : यह ब्लैक होल कांग्रेस की सरकारों में बना था और यूपीए के दौरान इसने यह विशाल आकार लेना शुरू किया था.

प्रणव | @prnv__

वैज्ञानिक : हमने ब्लैक होल की तस्वीर खींची है.
केजरीवाल : घंटा! सबूत दिखाओ?

गिरीश रागी | @girishragi

ब्लैक होल भी दिखा तो मोदी सरकार में. यह जवाहरलाल नेहरू की वजह से इतने सालों तक लोगों की नजरों से ओझल रहा.