दिल्ली से भारतीय जनता पार्टी की सांसद मीनाक्षी लेखी ने सुप्रीम कोर्ट में अर्ज़ी देकर कहा है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के ख़िलाफ़ अदालत की आपराधिक अवमानना की कार्यवाही शुरू की जानी चाहिए. उन्होंने इस अर्ज़ी में यह भी कहा कि राहुल गांधी सुप्रीम कोर्ट के आदेश की आड़ में भ्रम पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं.

मीनाक्षी लेखी के मुताबिक राहुल गांधी रफाल मामले में अदालत के आदेश को आधार बनाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ख़िलाफ़ अपमानजनक टिप्पणी कर रहे हैं. वहीं मीनाक्षी की तरफ़ से पूर्व अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने अदालत को बताया, ‘राहुल गांधी ने टिप्पणी की है कि सुप्रीम कोर्ट ने कहा है- चौकीदार (नरेंद्र मोदी के लिए) चोर है.’ अदालत इस मामले में सोमवार को सुनवाई करेगी. सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई इस मामले को देख रहे हैं.

ग़ौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने बीते बुधवार को रफाल मामले में सरकार की यह दलील ख़ारिज़ कर दी थी कि चोरी से हासिल किए गए गोपनीय दस्तावेज़ और उनमें दर्ज़ जानकारियों को प्रमाण नहीं माना जा सकता. अदालत ने कहा था कि वह नई जानकारियों और दस्तावेज़ के आधार पर अपने पुराने फ़ैसले पर पुनर्विचार करेगी. यहां यह भी बताते चलें कि सुप्रीम कोर्ट ने अपने पहले वाले आदेश में केंद्र सरकार काे रफाल सौदे के मामले में क्लीन चिट दे दी थी.