प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के करीबियों के घर से कथिततौर पर बरामद हुए करोड़ों रुपयों को लेकर एक बार फिर कांग्रेस पर निशाना साधा है. उन्होंने आरोप लगाया है कि यह पैसा केंद्र ने मध्य प्रदेश के गरीब बच्चों और गर्भवती महिलाओं के लिए भेजा था. लेकिन कांग्रेस ने इसमें ‘तुगलक रोड चुनावी घोटाला’ कर दिया. नरेंद्र मोदी ने यह भी कहा, ‘चौकीदार मुस्तैद था, इसलिए चोर पकड़े गए.’ इसके साथ ही सवालिया लहजे में उन्होंने कहा कि देश के वोटर, ‘ईमानदार चौकीदार’ और ‘भ्रष्ट नामदार’ में से किसे चुनेंगे.’ खबरों के मुताबिक उन्होंने ये बातें शुक्रवार को महाराष्ट्र के अहमदनगर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहीं.

इसके साथ ही मोदी ने कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा, ‘महाराष्ट्र में जब कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन की सरकार थी तो उस वक्त पुणे में तीन बम धमाके हुए थे. लेकिन बीते पांच सालों के हमारे शासन में ऐसा कोई हादसा नहीं हुआ.’ उन्होंने आगे कहा, ‘कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में जम्मू-कश्मीर में तैनात सैन्य बलों के ‘विशेषाधिकारों’ को खत्म करने की बात कही है. जो लोग पहली बार वोट देने जा रहे हैं, मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि क्या आप राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ समझौता मंजूर करेंगे?’

इस मौके पर नरेंद्र मोदी ने एनसीपी प्रमुख शरद पवार को भी निशाने पर लिया. उन्होंने कहा कि इस चुनाव में कांग्रेस के साथ गठबंधन करके पवार ऐसे लोगों के साथ खड़े हैं जो जम्मू-कश्मीर को भारत से अलग करने की बात कर रहे हैं. प्रधानमंत्री ने यह भी कहा, ‘आपने (शरद पवार) अपनी पार्टी के नाम के साथ नेशनलिस्ट (राष्ट्रवादी) शब्द जोड़ रखा है. लेकिन क्या ऐसा लोगों की आंखों में धूल झोंकने के लिए किया है?’ उन्होंने आगे कहा, ‘देश में दो प्रधानमंत्री की बात करने वाले जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला के बयान पर भी अब तक पवार ने कुछ नहीं कहा है. इस मुद्दे पर आखिर वे कब तक खामोश रहेंगे.’