‘या तो मुझे वोट दें या फिर मेरे पास किसी काम के लिए न आएं.’  

— मेनका गांधी, भारतीय जनता पार्टी की नेता

मेनका गांधी ने यह बात उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए मुसलमान मतदाताओं से कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘मैं इस चुनाव में जीत हासिल कर रही हूं. लेकिन यह जीत अगर मुस्लिम वोटरों के समर्थन के बगैर मिली तो मुझे अच्छा नहीं लगेगा. इससे मेरा मन खट्टा होगा. साथ ही मुसलमानों के प्रति मेरे रवैये में बदलाव भी होगा.’ मेनका गांधी का यह भी कहना था, ‘अगर आप (मुसलमान) समझते है कि कल आपको मेरी जरूरत पड़ेगी तो मेरा समर्थन करें.’

‘लोकसभा का यह चुनाव राष्ट्रवाद बनाम परिवारवाद है.’  

— नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

नरेंद्र मोदी ने यह बात कर्नाटक के गंगावती में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘मुझे बताया गया है कि एचडी देवगौड़ा के बेटे कुमारस्वामी ने कहा है कि अगर नरेंद्र मोदी दोबारा प्रधानमंत्री बना तो वे राजनीति से संन्यास ले लेंगे.’ उन्होंने आगे कहा, ‘देवगौड़ा जी ने भी ऐसी ही बात 2014 के चुनाव में कही थी. लेकिन उन्होंने संन्यास नहीं लिया.’ इस मौके पर नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस और जेडीएस को ​’परिवारवाद’ का प्रतीक भी बताया. साथ ही कहा, ‘ये दोनों दल आम जनता से जितना कटे हुए हैं, अपने परिवार के उतने ही करीब हैं.


‘हम तमिलनाडु पर नागपुर का शासन नहीं चलने देंगे.’  

— राहुल गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष

राहुल गांधी ने यह बात तमिलनाडु के कृष्णागिरी में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘लोकसभा के इस चुनाव में कांग्रेस ने तमिलनाडु के उन दलों के साथ गठजोड़ किया है जो स्वायत्ता, न्याय और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता में यकीन रखते हैं.’ राहुल गांधी का यह भी कहना था कि अगर केंद्र में उनकी पार्टी की सरकार बनी तो वे न्यूनतम आय गारंटी योजना (न्याय) को लागू करवाएंगे.


‘अगर कोई नेता अपने भाषणों में बालाकोट एयर स्ट्राइक और सेना का जिक्र करे तो उसके प्रचार पर एक दिन की रोक लगाई जाए.’  

— अभिषेक मनु सिंघवी, कांग्रेस के नेता

अभिषेक मनु सिंघवी ने यह बात दिल्ली में पत्रकारों के साथ बात करते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘आदर्श चुनाव आचार संहिता के मद्देनजर कांग्रेस के एक शिष्टमंडल ने यह सुझाव चुनाव आयोग को भी दिया है.’ अभिषेक मनु सिंघवी का यह भी कहना था कि यदि कोई नेता दोबारा ऐसी गलती करता है तो आगे भी उस पर ऐसे प्रतिबंध जारी रहने चाहिए. लोकसभा के इस चुनाव प्रचार में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित भाजपा के कई दूसरे नेता अपने संबोधनों में सेना और बालाकोट एयर स्ट्राइक का जिक्र कर चुके हैं.


‘अम्पायरों पर जितना अधिक दबाव डाला जाएगा, मुश्किलें उतनी ही ज्यादा बढ़ेंगी.’  

— जहीर खान, भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व गेंदबाज

जहीर खान का यह बयान क्रिकेट की इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) प्रतियोगिता में अम्पायरिंग के स्तर पर आया है. इसके साथ ही मैदान पर अम्पारिंग को एक कठिन काम बताते हुए उन्होंने यह भी कहा, ‘कई चीजों में सुधार हुआ है पर मैं समझता हूं कि सुधार की हमेशा गुंजाइश रहती है.’ जहीर खान का यह भी कहना था, ‘इस टूर्नामेंट में कई मौकों पर चीजें सीमा से बाहर चली गईं लेकिन पूरे मैच के दौरान अम्पायरिंग में निरंतरता हो तो फिर कोई दिक्कत नहीं होगी.’