सूडान के नए सैन्य नेता ने देश की बागडोर संभालने के एक ही दिन बाद अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. उनका कहना है कि वे असैन्य सरकार का मार्ग प्रशस्त करेंगे. सूडान के नए सत्तारूढ़ सैन्य परिषद के प्रमुख जनरल अवद इब्ने औफ को गुरुवार को पद की शपथ दिलाई गई थी. इसके ठीक एक दिन बाद शुक्रवार को उन्होंने पद छोड़ने का ऐलान कर दिया. उन्हें लंबे समय से सूडान में शासन कर रहे राष्ट्रपति उमर अल बशीर के स्थान पर लाया गया था.

पीटीआई के मुताबिक परिषद के राजनीति प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल उमर जैन अल अब्दिन ने अरब और अफ्रीका के राजदूतों से एक बैठक में कहा था, ‘यह सैन्य तख्तापलट नहीं है, बल्कि लोगों की इच्छा का सम्मान है.’ उनके इस बयान के शीघ्र बाद ही औफ ने इस्तीफा दे दिया. कहा जा रहा है कि औफ की विदाई स्पष्ट रूप से सूडान के नए नेताओं के बीच भ्रम की स्थिति को उजागर करती है.

उधर, इस्तीफा देते हुए औफ ने देश के नाम अपने संबोधन में कहा कि उन्होंने अपने स्थान पर जनरल अब्देल फाताह अलबुरहान अब्दुलरहमान को चुना है. औफ ने कहा कि उन्हें अब्दुलरहमान के अनुभव और डटे रहने की काबिलियत पर भरोसा है. वहीं, देश भर में विरोध प्रदर्शन की अगुवाई करने वाले सूडानीज प्रोफेशनल असोसिएशन ने औफ के इस्तीफे का स्वागत किया और इसे लोगों की इच्छा की जीत बताया.