प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को जम्मू-कश्मीर के कठुआ में एक चुनावी जनसभा में अब्दुल्ला और मुफ्ती परिवार पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि इन दो परिवारों ने जम्मू-कश्मीर की तीन पीढ़ियां ‘बर्बाद’ कर दीं और अब उन्हें भारत का ‘बंटवारा’ नहीं करने देंगे. उनके इस बयान को आज के अधिकतर अखबारों ने पहले पन्ने पर जगह दी है. वहीं, कश्मीरी पंडितों के विस्थापन को लेकर नरेंद्र मोदी कांग्रेस पर भी हमलावर दिखे. उन्होंने कहा कि उनकी सरकार विस्थापित समुदाय को उनके पैतृक स्थानों पर बसाने के लिए प्रतिबद्ध है और इस दिशा में काम शुरू हो गया है.

कांग्रेस ने प्रधानमंत्री के हेलिकॉप्टर में मौजूद काले बॉक्स की जांच की मांग की

कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हेलिकॉप्टर में काला बक्सा ले जाने के मामले की जांच कराने की मांग की है. अमर उजाला में प्रकाशित खबर के मुताबिक पार्टी प्रवक्ता आनंद शर्मा ने मांग की है कि प्रधानमंत्री मोदी इस संबंध में सफाई दें. उन्होंने काले बक्से में पैसे होने का शक जाहिर करते हुए कहा कि चुनाव आयोग को इसकी जांच करनी चाहिए. इससे पहले कर्नाटक की कांग्रेस इकाई इस मामले की शिकायत आयोग में दर्ज करा चुकी है. बताया जाता है कि बीती नौ अप्रैल को नरेंद्र मोदी की राज्य के चित्रकूट में रैली थी. इस रैली के लिए इस्तेमाल किए गए उनके हेलिकॉप्टर में काले रंग का एक बॉक्स देखा गया था.

ईवीएम मुद्दे पर विपक्ष के एक बार फिर सुप्रीम कोर्ट पहुंचने की तैयारी

ईवीएम के मुद्दे को लेकर विपक्षी दल एक बार फिर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाने की तैयारी में हैं. नवभारत टाइम्स की खबर के मुताबिक रविवार को विपक्ष ने एक बार फिर ईवीएम की विश्वसनीयता और चुनाव आयोग की मंशा पर सवाल उठाए हैं. साथ ही, कांग्रेस सहित 21 दलों ने एक बार फिर 50 फीसदी ईवीएम का वीवीपैट पर्ची से मिलान करने की मांग की है. इसके अलावा बैलेट पेपर से चुनाव कराने का भी समर्थन किया है. विपक्षी दल पहले भी सुप्रीम कोर्ट में यह मांग कर चुके हैं. हालांकि, चुनाव आयोग का इस पर कहना था कि इससे चुनावी नतीजे आने में पांच दिनों की देरी हो सकती है. वहीं, बीते हफ्ते शीर्ष अदालत ने विपक्षी दलों की इस मांग को खारिज कर दिया. हालांकि, उसने आयोग को प्रत्येक संसदीय क्षेत्र के पांच बूथों पर ईवीएम का मिलान वीवीपैट पर्चियों से कराने का निर्देश दिया है. इससे पहले यह संख्या केवल एक थी.

माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता और संचार विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति सहित 19 पर धोखाधड़ी के मामले दर्ज

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल स्थित माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता और संचार विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति बृजकिशोर कुठियाला सहित 19 पर धोखाधड़ी के मामले दर्ज किए गए हैं. हिन्दुस्तान में प्रकाशित खबर के मुताबिक इन सभी के खिलाफ आर्थिक अपराध विंग (ईओडब्ल्यू) ने प्राथमिकी दर्ज की है. इससे पहले विश्वविद्यालय ने ईओडब्ल्यू को एक पत्र लिखा था. इसमें एक दशक से नियुक्तियों में गड़बड़ियों और वित्तीय अनियमितताओं का जिक्र करते हुए आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई का अनुरोध किया गया था.

देश खतरनाक स्थिति में है. हमलोग इसे बचाने के लिए कुछ भी करेंगे. : अरविंद केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने देश को नरेंद्र मोदी और अमित शाह से बचाने के लिए कुछ भी करने की बात कही है. द एशियन एज के मुताबिक उन्होंने विपक्षी दलों की एक बैठक के बाद कहा, ‘देश खतरनाक स्थिति में है. हमलोग इसे बचाने के लिए कुछ भी करेंगे.’ अरविंद केजरीवाल के इस बयान को दिल्ली में कांग्रेस के साथ संभावित गठबंधन से जोड़ा जा रहा है. हालांकि, कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने साफ किया कि दोनों पार्टियों के साथ दिल्ली में गठबंधन लगभग हो चुका था. लेकिन, इसे दूसरे राज्यों जोड़ना सही नहीं था. इससे पहले आम आदमी पार्टी ने दिल्ली के साथ-साथ हरियाणा में गठबंधन की मांग की थी. इससे कांग्रेस ने इनकार कर दिया था.

पाकिस्तान ने एक बार फिर 100 भारतीय मछुआरों को रिहा किया

पाकिस्तान ने एक बार फिर 100 भारतीय मछुआरों को रिहा किया है. द हिंदू की खबर के मुताबिक पाकिस्तान ने भारत के साथ आपसी संबंधों को बेहतर बनाने के लिए यह कदम उठाया है. इन मछुआरों को कराची स्थित एक जेल में रखा गया था. बीते शनिवार को इन्हें लाहौर लाया गया था. आज वाघा सीमा पर इन्हें भारतीय अधिकारियों को सौंप दिया जाएगा. इससे पहले बीती सात अप्रैल को भी 100 मछुआरों को रिहा किया गया था. बताया जाता है कि इस महीने पाकिस्तान ने कुल 360 भारतीय कैदियों को रिहा करने की बात कही है. इनमें से 22 अप्रैल को 100 और बाकी 60 को 29 अप्रैल को रिहा किया जाएगा.