कांग्रेस के नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर सोमवार को एक मंदिर में पूजा करते वक़्त घायल हो गए. उनके सिर पर छह टांके लगाए गए. केरल के तिरुवनंतपुरम में यह घटना उस वक़्त हुई जब शशि थरूर ‘तुलादान’ (स्थानीय परंपराओं के मुताबिक तुलाभरम) की रस्म अदा कर रहे थे. इस रस्म के तहत भक्त अपने वज़न के बराबर फल, मिठाई या अन्य कोई वस्तु मंदिर में दान करते हैं.

ख़बरों के मुताबिक केरल में सोमवार को स्थानीय संस्कृति के अनुसार नए साल ‘विशु’ की शुरूआत हुई है. इस मौके पर तमाम केरलवासी मंदिरों में पूजा-अर्चना के लिए पहुंच रहे हैं. ऐसे ही शशि थरूर भी मंदिर पहुंचे थे. वहीं तुलादान के दौरान वे चोटिल हो गए. उन्हें तुरंत नज़दीकी अस्पताल ले जाया गया. प्राथमिक इलाज़ के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्‌टी दे दी गई.

ग़ौरतलब है कि शशि थरूर तिरुवनंतपुरम लोक सभा सीट से लगातार तीसरी बार कांग्रेस के उम्मीदवार हैं. यहां 23 अप्रैल को मतदान होना है. इस सीट पर थरूर का मुकाबला भारतीय जनता पार्टी के कुम्मनम राजशेखरन और वाम गठबंधन के सी दिवाकरण से है. थरूर 2009 और 2014 में यह सीट जीत चुके हैं. इस बार लगातार तीसरी जीत की अपेक्षा कर रहे हैं.