विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान ने भाजपा का समर्थन करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पक्ष में मतदान किया है, यह खबर इन दिनों फेसबुक, ट्विटर और वाट्सएप पर वायरल है. इसमें भाजपा का गमछा लपेटे एक तस्वीर है जो विंग कमांडर अभिनंदन की बताई जा रही है. इसके साथ एक संदेश है. इसके शब्द हैं, ‘विंग कमांडर अभिनंदन जी ने ख़ुलेआम बीजेपी का समर्थन किया है और वोट भी डाला है मोदी जी को प्रधानमंत्री बनाने के लिए और इनका कहना है कि वर्तमान में मोदी जी से अच्छा प्रधानमंत्री कोई दूसरा नहीं हो सकता....कांग्रेसियों तुम किसी जवान को ज़िंदा वापस ना ला सके और आज अभिनंदन जिंदा वापस भी आया औऱ बीजेपी को वोट भी डाला.’

भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन का विमान 27 फरवरी 2019 को पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर में गिर गया था. यह तब हुआ था जब वे भारतीय सीमा में घुस आए पाकिस्तानी विमानों को खदेड़ने के मिशन पर थे. इसके बाद अभिनंदन को पाकिस्तानी सेना ने हिरासत में ले लिया था. दो ही दिन बाद उन्हें रिहा भी कर दिया गया था.

लेकिन सोशल मीडिया पर उनके नाम पर जो दावे किए जा रहे हैं वे बेबुनियाद हैं, यह जरा सा गौर करने पर ही समझ में आ जाता है. जो तस्वीर अभिनंदन वर्तमान के नाम से शेयर की जा रही है वह उनकी तरह मूंछें रखने वाले किसी दूसरे व्यक्ति की है. अभिनंदन की रिहाई के बाद इस तरह की मूंछों का चलन बढ़ने की खूब खबरें आई थीं. इसके अलावा इसकी काफी संभावना है कि यह तस्वीर गुजरात की हो क्योंकि पीछे जिस दुकान का बोर्ड दिखाई देता है उसका साइनबोर्ड गुजराती में है. लेकिन गुजरात में लोकसभा चुनाव के लिए अभी चुनाव हुए ही नहीं हैं. वहां 23 अप्रैल को वोटिंग होनी है.

पाकिस्तान से रिहा होकर भारत वापस लौटे विंग कमांडर अभिनंदन ने 26 मार्च 2019 को ड्यूटी पर आ गए थे. उनकी तैनाती श्रीनगर में है. इसके बाद उन्होंने चार सप्ताह की ‘सिक लीव’ ली थी. भारतीय वायु सेना के सभी सदस्य को ‘द एयर फ़ोर्स रूल्स 1969’ का पालन करना पड़ता है. इन नियमों के मुताबिक कोई भी अफ़सर सेवा में रहते हुए किसी राजनीतिक कार्यक्रम में शामिल नहीं हो सकता, न ही वह खुद को किसी राजनीतिक विचारधारा से जोड़ सकता है.

विंग कमांडर अभिनंदन के नाम पर फ़र्ज़ी ख़बर फ़ैलाने की कोशिशें पहले भी हुई हैं. पाकिस्तान से उनकी रिहाई के बाद उनके नाम पर सोशल मीडिया के जरिये कई राजनीतिक संदेश वायरल किए गए थे. यहां तक कि उनके नाम से कई फ़र्ज़ी ट्विटर अकाउंट बन गए थे. इसके बाद वायु सेना ने बाकायदा बयान जारी किया था कि विंग कमांडर अभिनंदन का कोई सोशल मीडिया अकाउंट नहीं है और उनके नाम पर फर्जी खबरें न फैलाई जाएं.