इक्वाडोर ने दावा किया है कि विकिलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे की शरण वापस लेने के बाद उसकी सार्वजनिक संस्थाओं के वेबपेजों पर चार करोड़ साइबर हमले हो चुके हैं. सोमवार को इक्वाडोर के सूचना एवं संचार तकनीक उप-मंत्री पैट्रिसियो रील ने कहा कि ये हमले बीते गुरुवार से शुरू हुए. उनके मुताबिक ‘अधिकांश हमले अमेरिका, ब्राजील, हॉलैंड, जर्मनी, रोमानिया, फ्रांस, ऑस्ट्रिया और ब्रिटेन’ से किए गए हैं. इसके अलावा दक्षिणी अमेरिकी देशों से भी साइबर हमले हुए हैं.

पीटीआई के मुताबिक इक्वाडोर के दूरसंचार मंत्रालय के तहत एक विभाग के अधिकारी जेवियर जारा ने बताया कि देश में व्यापक स्तर पर साइबर हमले हुए जिसके बाद उन्हें इंटरनेट बंद करना पड़ा. उनका कहना है कि ये हमले जूलियन असांजे से जुड़े हुए समूहों का कारनामा है. खबर के मुताबिक इन साइबर हमलों में सेंट्रल बैंक, राष्ट्रपति कार्यालय, इंटरनेट राजस्व सेवा, कई मंत्रालय और विश्वविद्यालय सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं.

गौरतलब है कि इक्वाडोर के राष्ट्रपति लेनीन मोरेनो ने सात साल के बाद असांजे से अपनी राजनयिक सुरक्षा खत्म कर दी थी. इसके बाद गुरुवार को असांजे को इक्वाडोर के लंदन स्थित दूतावास से गिरफ्तार कर लिया गया था. मोरेनो ने असांजे पर ‘दूसरे देशों के मामले में दखल’ देने और जासूसी करने का आरोप लगाया और शरण देने से इनकार कर दिया. वहीं, इक्वाडोर ने 2017 में असांजे को दी गई नागरिकता भी समाप्त कर दी है.