चुनाव आयोग के बाद अब सुप्रीम कोर्ट ने बसपा प्रमुख मायावती को झटका दिया है. उसने उस याचिका पर सुनवाई करने से इनकार कर दिया है जिसमें चुनाव आयोग द्वारा मायावती के प्रचार करने पर रोक लगाए जाने के फैसले को चुनौती दी गई थी. आयोग ने सोमवार को मायावती को 48 घंटे तक किसी भी प्रकार का चुनाव प्रचार करने से रोक दिया था. मायावती ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी जिसे आज शीर्ष अदालत ने खारिज कर दिया.

मायावती के अलावा चुनाव आयोग ने समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी पर भी अलग-अलग अवधि के लिए चुनाव प्रचार करने पर प्रतिबंध लगा दिया है. आजम खान और योगी आदित्यनाथ पर जहां तीन का प्रतिबंध लगाया गया है, वहीं मेनका गांधी और मायावती दो दिन तक चुनाव प्रचार नहीं कर सकेंगी. उधर, दूसरे चरण के मतदान से पहले सभी दलों का प्रचार अभियान आज समाप्त हो जाएगा. यानी ये नेता अब इस अगले चरण में ही चुनाव प्रचार कर पाएंगे.