तमिलनाडु के थेनी लोकसभा क्षेत्र में संदिग्ध धन होने की खुफिया जानकारी मिलने के बाद अधिकारियों ने एक दुकान पर छापा मारा. उन्होंने वहां से नोटों के बंडल बरामद किए. यह धन कथित तौर पर मतदाताओं को बांटा जाना था. इस दौरान कार्रवाई का विरोध कर रहे टीटीवी दिनाकरण नेतृत्व वाले अम्मा मक्कल मुनेत्र कझगम (एएमएमके) के कार्यकर्ताओं को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को हवा में गोलियां चलानी पड़ीं. अधिकारियों ने बताया कि चुनाव आयोग द्वारा नियुक्त निगरानी दस्ते के अधिकारी और आयकर विभाग के अधिकारियों की एक टीम छापा मारने पहुंची.

पीटीआई के मुताबिक इस दल के थेनी जिले के अन्दिप्पत्ति इलाके स्थित एक दुकान पर पहुंचने पर दुकानदार दुकान का शटर गिरा फरार हो गया. ऐसा माना जा रहा है कि यह दुकान एएमएमके के एक समर्थक की है. दल के सदस्यों ने बताया कि इसके बाद पार्टी के समर्थकों तथा अधिकारियों के बीच झड़प हो गई और हंगामा होने पर पुलिस ने हवा में चार बार गोलियां चलाईं. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि गोलीबारी में कोई हताहत नहीं हुआ है. वहीं, इस सिलसिले में एएमएमके के चार कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है.

खबर के मुताबिक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘बरामद किए गए लिफाफों पर वॉर्ड नंबर और मतदाताओं की संख्या लिखी हुई है. इसके अलावा प्रत्येक लिफाफे पर 300 रुपये लिखे हुए हैं. छापे की कार्रवाई जारी है.’ गौरतलब है कि तमिलनाडु में दूसरे चरण में 18 अप्रैल को मतदान होना है. उससे पहले चुनाव आयोग मतदाताओं को लुभाने के लिए अवैध नकदी के आरोपों के चलते यहां के वेल्लोर संसदीय क्षेत्र में पहले ही चुनाव रद्द कर चुका है.